Sunday, March 3, 2024

दाऊद से सौदेबाज़ी! क्या राज ठाकरे सच कह रहे हैं मोदी जी?

नई दिल्ली/मुंबई। क्या अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम खुद भारत लौटना चाहता है? क्या इसके लिए उसकी केंद्र की मोदी सरकार से कोई सौदेबाज़ी चल रही है? क्या वह किसी रहम की शर्त पर भारत आना चाहता है?

आज ऐसे कई सवाल सामने आ रहे हैं, क्योंकि महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के अध्यक्ष राज ठाकरे ने कुछ ऐसा ही दावा किया है। उन्होंने कहा है कि दाऊद बहुत बीमार है और शारीरिक रूप से कमजोर भी हो गया है। वह भारत वापस आना चाहता है और  इसके लिए वह केंद्र से बातचीत कर रहा है। केंद्र सरकार भी ऐसा कोई समझौता कर दाऊद को भारत लाकर अगले चुनाव में फायदा लेना चाहती है।

दाऊद मुंबई धमाकों का गुनाहगार 

आपको मालूम है कि दाऊद 1993 मुंबई बम धमाकों समेत कई मामलों में आरोपी है और भारत सरकार ने उसे भगोड़ा घोषित कर रखा है। सुरक्षा एजेंसियों के मुताबिक, इस वक्त वह पाकिस्तान में है।

राज ठाकरे का सनसनीखेज दावा

अपनी पार्टी के काडर से जुड़ने के लिए ऑफिशल फेसबुक पेज लॉन्च के लिए मुंबई में आयोजित कार्यक्रम में मनसे अध्यक्ष राज ठाकरे ने यह दावा करके सबको चौंका दिया। राज ठाकरे ने कहा कि अपनी शारीरिक अक्षमता के कारण दाऊद अपने आखिरी दिन भारत में बिताना आना चाहता है।

“सरकार उठाना चाहती है फायदा”

राज ठाकरे के मुताबिक केंद्र सरकार उसकी वापसी का श्रेय लेना चाहती है। राज के मुताबिक “सरकार उसे आम चुनाव से पहले लाएगी और उसका श्रेय लेने की कोशिश करेगी। मैं कोई मजाक नहीं कर रहा है बल्कि यह सच्चाई है जिसे आप बाद में एहसास करेंगे।“ उन्होंने कहा, “जब वह भारत लौटने को राजी हो जाएगा तब नरेंद्र मोदी सरकार इसका ढिंढोरा पीटेगी। यह भाजपा का एक राजनीतिक कदम होगा।”

केंद्र स्पष्ट करे स्थिति

राज ठाकरे ने ये आरोप लगाकर सनसनी तो फैला दी है अब यह केंद्र सरकार पर है कि वह इस बारे में स्थिति स्पष्ट करे। केंद्र को यह साफ करना चाहिए कि राज ठाकरे जो कह रहे हैं वो सही या गलत। और अगर इसमें कुछ भी सच्चाई है तो दाऊद या पाकिस्तान से किस तरह की बातचीत चल रही है। 

जनचौक से जुड़े

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

Latest Updates

Latest

Related Articles