29.1 C
Delhi
Wednesday, August 4, 2021

भगवा दंगाईयों के नाम पर सड़क बनायेगी योगी सरकार

ज़रूर पढ़े

अगर चुनाव अचार संहिता को ध्यान में रखकर देखें तो आगामी उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में अब गिने चुने महीने ही बचे हैं। ऐसे में सत्ताधारी दल द्वारा राज्य में नये निर्माणों के शिलान्यास और उद्घाटन और फीता काटने का दौर शुरु होना कोई अचरज की बात नहीं है।

अचरज की बात तो तब होती अगर मौजूदा सत्ताधारी लोग अपनी प्रवृत्ति और विचारधारा के उलट कुछ समाजिक और जनसरोकारीय निर्माण कार्यों का उद्घाटन और शिलान्यास करते। जबकि ये वही कर रहे हैं या करने का एलान कर रहे हैं जो इनकी नफ़रत घृणा और विभाजन की राजनीति को सूट करता है।   

दरअसल कल उत्तर प्रदेश सरकार में मंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने मंगलवार को अयोध्या में एलान किया कि प्रदेश में उनकी सरकार अब राम मंदिर के (बाबरी मस्जिद विध्वंस) लिये मरने वाले कारसेवकों के नाम पर मार्गों का निर्माण करायेगी। कथित तौर पर 15 अरब रुपये की 996 परियोजनाओं का लोकार्पण करने पहुंचे केशव मौर्या ने राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय के स्वामी विवेकानंद सभागार में आयोजित कार्यक्रम में कहा कि- “रामजन्मभूमि आंदोलन के बलिदानी कारसेवकों के घर तक मार्ग का निर्माण किया जाएगा। ‘राम भक्त कारसेवक’ के नाम से सड़क का निर्माण होगा।”

इतना ही नहीं केशव मौर्या ने यह जानकारी भी दी कि पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों ने राममंदिर के लिए एक करोड़ रुपये की धनराशि समर्पित की है। इससे पहले उन्होंने रुदौली में कारसेवक रामअचल गुप्त की प्रतिमा का अनावरण किया। और उन्होंने घोषणा किया कि देश की सुरक्षा में शहीद होने वाले सेना के वीर जवानों व आंतरिक सुरक्षा में शहीद होने वाले पुलिस कर्मियों के घर तक भी ‘जय हिद वीर पथ’ का सरकार निर्माण कराएगी।

चुनावी अभियान के तहत शिलान्यास और लोकार्पण करने निकले केशव मौर्या ने चुनाव की जिक्र करते हुये कहा कि –“देश व प्रदेश के विकास के लिए कम से कम 25 वर्षों तक भाजपा की सरकार आवश्यक है। वर्ष 2022 के चुनाव में भी कार्यकर्ताओं के दम पर भाजपा तीन सौ अधिक सीटें हासिल कर जीत दर्ज करेगी।”

सिर्फ इतना ही नहीं 2022 यूपी विधानसभा चुनाव किस मुद्दे पर लड़ा जायेगा एक तरह से इसका भी खुलासा कर दिया। दरअसल उन्होंने कार्यकर्ताओं से सवाल भी पूछा कि ‘यदि मोदी नहीं आते तो क्या राममंदिर निर्माण की राह प्रशस्त हो पाती’। पहले कांग्रेस से जुड़े अधिवक्ता सुप्रीम कोर्ट में मंदिर की सुनवाई टालने की मांग करते थे और अब जब मंदिर का निर्माण शुरू हो गया है तो भी अड़ंगा लगाने की कोशिश विपक्ष के नेता कर रहे हैं।

केशव मौर्या ने बताया कि राज्य में हाईस्कूल व इंटर के टॉपर विद्यार्थियों के घर तक डा. एपीजे अब्दुल कलाम गौरव मार्ग का निर्माण किया जा रहा है। प्रदेश में 53 करोड़ रुपये से 210 मार्गों का निर्माण हुआ है और कई का अभी भी चल रहा है। इसके साथ ही उन्होंने खिलाड़ियों के घर तक सड़क बनाने की बात करते हुये कहा कि राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय खेल प्रतियोगिताओं में नाम रोशन करने वाले खिलाड़ियों के घर तक मेजर ध्यानचंद विजय पथ का निर्माण भी होगा।

(सुशील मानव जनचौक के विशेष संवाददाता हैं।)

- Advertisement -spot_img
- Advertisement -spot_img

Latest News

हड़ताल, विरोध का अधिकार खत्म करने वाला अनिवार्य रक्षा सेवा विधेयक 2021 को लोकसभा से मंजूरी

लोकसभा ने विपक्षी सदस्यों के गतिरोध के बीच मंगलवार को ‘अनिवार्य रक्षा सेवा विधेयक, 2021’ को संख्या बल के...
जनचौक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें

Girl in a jacket

More Articles Like This

- Advertisement -spot_img