28.1 C
Delhi
Friday, August 6, 2021

एक मई

आज वक्त मजदूरों को आवाज़ दे रहा है!

सदियों दासता, सामंतवाद से संघर्ष करने के बाद दुनिया में मज़दूरों ने 1 मई 1886 को अपने अस्तित्व का परचम फ़हराया। महज 105 साल में ही पूंजीवाद ने अपने पसीने की महक से विश्व का निर्माण करने वाले मेहनतकश...
- Advertisement -spot_img

Latest News

मनुवादी ढपोरशंखियों के निशाने पर हैं देश का मस्तक ऊंचा करने वाली बेटियां

बुधवार को टोक्यो में भारत की लड़कियां जब जी-जान से अर्जेंटीना की टीम से जूझ रही थीं- शानदार मुकाबले...
- Advertisement -spot_img