Wednesday, October 27, 2021

Add News

बाबरी मस्जिद

जस्टिस लिब्रहान ने कहा- पूरी साजिश से ढहाई गई थी बाबरी मस्जिद

बाबरी मस्जिद विध्वंस कांड में विशेष सीबीआई अदालत ने बुधवार को फैसला सुना दिया। कोर्ट ने अपने फैसले में मजबूत सबूतों के अभाव और घटना के सुनियोजित न होने का हवाला देते हुए सभी 32 आरोपियों को बरी कर...

बाबरी मस्जिद तोड़ने वाले षड़यंत्रकारियों को बरी करना संविधान और सामाजिक ढांचे पर एक और हमलाः दीपांकर

बाबरी मस्जिद तोड़ने के षड़यंत्र केस में सभी अभियुक्तों को बरी किए जाने पर भाकपा-माले के महासचिव दीपांकर भट्टाचार्य ने कहा है कि षड़यंत्रकारियों को बरी करना भारत के सेक्युलर संविधान और सामाजिक ढांचे पर एक और हमला है।...

मंदिर बनने भर से विकास होता तो सासाराम भी होता ‘स्मार्ट सिटी’!

प्रधानमंत्री द्वारा जैसे ही अयोध्या में भूमि पूजन संपन्न हुआ वहां भव्य राम मंदिर के निर्माण का काम औपचारिक रूप से शुरू हो गया। वैसे अनौपचारिक रूप से वहां मंदिर निर्माण में आने वाले खंबों को तराशने का काम...

सत्ता के अंधकार में घुटती आवाजों के बीच उद्घोष बनकर उभरे हैं प्रशांत

हमारे देश में लाखों मुकदमे सुनवाई के लिए पड़े हैं, कितने बलात्कार, कत्ल, धोखाधड़ी, जमीनों पर कब्जे के मुकदमे, लोगों के मौलिक अधिकार और समुदायों के जीने के अधिकार से संबंधित मुकदमे, नेताओं और प्रभावशाली व्यक्तियों पर मुकदमे, इन...

कवि अटल बिहारी वाजपेयी की कविताओं में नहीं दिखते स्त्री, दलित, वंचित और श्रमिक

‘हिंदू तन-मन, हिंदू जीवन, रग रग हिंदू मेरा परिचय’ ये पंक्तियां भाजपा के सबसे उदार समझे जाने वाले चेहरे अटल बिहारी वाजपेयी की हैं। महात्मा गांधी की हत्या की साजिश में नाम आने और गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे...

राम के नाम पर संविधान के धर्मनिरपेक्ष स्वरूप पर हमलाः भाकपा माले

पटना। भाकपा माले ने पूरे बिहार में पांच अगस्त को प्रतिवाद दिवस मनाया। अयोध्या में राम मंदिर भूमि पूजन समारोह को सरकारी आयोजन में तब्दील कर देने और उत्तर प्रदेश और केंद्र सरकार की इसमें पूर्ण भागीदारी के खिलाफ...

राम मंदिर भूमि पूजन में पीएम का जाना बाबरी मस्जिद गिराने के अपराधिक कृत्य को वैधता प्रदान करने की कोशिश

भारतीय कम्यूनिस्ट पार्टी (माले) ने कहा है कि आयोध्या में राम मंदिर भूमि पूजन समारोह सरकारी आयोजन में तब्दील हो गया है। उत्तर प्रदेश के प्रशासन और केंद्र सरकार की इसमें पूर्ण भागीदारी, भारतीय संविधान की मूल भावना को...
- Advertisement -spot_img

Latest News

हाय रे, देश तुम कब सुधरोगे!

आज़ादी के 74 साल बाद भी अंग्रेजों द्वारा डाली गई फूट की राजनीति का बीज हमारे भीतर अंखुआता -अंकुरित...
- Advertisement -spot_img