Sunday, June 4, 2023

सिंधु घाटी

हम भूमिपुत्र स्वयं अपने इतिहास के कर्ता हैं

(प्रधानमंत्री मोदी के नाम एक भूमिपुत्र का खुला ख़त) लिखतुम भूमिपुत्र, पढ़तुम प्रधानमंत्री मोदी,नमस्कार, आदाब, सत् श्री अकाल थोड़े लिखे को तुम ज्यादा ही समझना। ‘आप’ के बजाय ‘तुम’ कहकर संबोधित इसलिए कर रहा हूं, क्योंकि दिल में रंजिश हो तो...

Latest News

‘वॉर जोन’ में कैसे तब्दील हो गया मणिपुर?

मणिपुर में लगभग एक महीने से चले आ रहे जातीय तनाव में आगजनी, हिंसा और हत्याओं की संक्षिप्त शांति...