यूपीः बेटी से छेड़खानी का विरोध करने पर शोहदों ने पिता को गोलियों से भूना

Estimated read time 1 min read

बेटी से छेड़खानी का विरोध किया तो शोहदों ने पिता की गोली मारकर हत्या कर दी। घटना उत्तर प्रदेश के जिला हाथरस, थाना क्षेत्र सिसौनी के नौजरपुर गांव की है। कल सोमवार शाम साढ़े चार बजे 52 वर्षीय अमरीश शर्मा अपने खेत में मजदूरों के साथ आलू की खुदाई का काम कर रहे थे। उनकी पत्नी व बेटी खाना पानी लेकर खेत पहुंची ही थीं कि तभी मुख्य हत्यारोपी गौरव शर्मा अपने मौसेरे भाई व अन्य दोस्तों के साथ सफेद रंग की गाड़ी में सवार होकर आलू के खेत में पहुंचा और ताबड़तोड़ गोलियां मारकर अमरीश की हत्या करके फरार हो गए।

घटना की रिपोर्ट मृतक की पुत्री ने थाने में दर्ज कराई है। इसमें गौरव, रोहतास शर्मा, निखिल शर्मा, ललित शर्मा व दो अन्य को नामजद किया गया है। पुलिस ने इस मामले में एक नामजद हत्यारोपी ललित शर्मा पुत्र सन्तोष शर्मा को गिरफ्तार कर लिया है।

उत्तर प्रदेश में योगी सरकार ने सत्ता में आते ही मनचलों, शोहदों पर नकेल कसने के लिए ‘रोमियो स्क्वॉड’ बनाया था, लेकिन हाथी के दांत खाने के और दिखाने को और। यानी रोमियो क्क्वॉड का गठन भले ही मनचलों पर अंकुश लगाने के नाम पर किया गया था पर रोमियो स्क्वॉड के नाम पर केवस प्रेमी युगल को परेशान करने और मारने पीटने तक ही सीमित रहा। जबकि मनचले, शोहदे छुट्टा सांड की तरह पूरी तरह सुरक्षित और संरक्षित घूम रहे हैं और तमाम तरह की घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं। कल हाथरस में शोहदों ने एक अधेड़ बाप को उसके खेत में जाकर केवल इसलिए ताबड़तोड़ फायरिंग करके गोलियों से भून दिया, क्योंकि उस पिता ने बेटी से छेड़खानी करने वाले उन शोहदों के खिलाफ़ पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई थी। शिकायत दर्ज होने के बावजूद योगी की पुलिस एक पिता और उसकी लड़की को उन मनचले अपराधियों से सुरक्षा नहीं दे पाई।

हाथरस पुलिस की कहानी
पुलिस की ओर से जारी प्रेस नोट में बताया गया कि ढाई साल पुराने विवाद में गोली मारी गई है। इस प्रेस नोट में और तमाम वीडियो बाइट में पुलिस ने कहीं भी छेड़खानी का जिक्र नहीं किया है। प्रेस नोट में हाथरस  पुलिस का कहना है, ‘’थाना सासनी क्षेत्र के ग्रम नौजपुर में एक व्यक्ति अमरीश पुत्र जगदीश शर्मा निवासी नौजरपुर थाना सासनी जनपद हाथरस को गौरव शर्मा उर्फ गोलू और उसके तीन साथियों द्वारा गोली मार दी गयी है। घायल को उपचार के लिए अस्पताल ले जाते समय मुत्यु हो गयी।

सूचना पर तत्काल क्षेत्राधिकारी नगर एवं प्रभारी निरीक्षक सासनी मय पुलिस फोर्स के मौके पर पहुंचकर मृतक के शव का पंचायतनामा भर पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल भिजवाया गया। पुलिस द्वारा घटना के बारे में जानकारी की गयी तो ज्ञात हुआ कि पीड़ित पक्ष द्वारा मुख्य आरोपी गौरव शर्मा के विरुद्ध दिनांक 16.07.2018 को थाना सासनी पर छेड़खानी का अभियोग पंजीकृत कराया गया था, जिसमें थाना सासनी पुलिस द्वारा अभियुक्त गौरव शर्मा को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया था। जो कुछ दिन बाद न्यायालय से जमानत पर बाहर आ गया।’

 प्रेस नोट में आगे हाथरस पुलिस कहती है- ‘मुख्य आरोपी गौरव शर्मा की पत्नी व मौसी गाँव के एक छोटे से मंदिर में आये हुए थे, जहाँ पर मृतक की दोनों बेटियां भी मौजूद थीं, जिनसे पुराने विवाद को लेकर आरोपी गौरव शर्मा की पत्नी व मौसी की कहासुनी हो गयी। महिलाओं के मध्य हुए विवाद के उपरान्त आरोपी गौरव शर्मा व मृतक अमरीश भी बीच-बचाव में आमने सामने आ गये। जहाँ पर दोनों के बीच भी झगड़ा हो गया। आवेश में आकर मुख्य आरोपी गौरव शर्मा ने मौसी के बेटे तथा दोस्तों को बुलाकर घटना कारित कर दी। वादिया (मृतक की बेटी) की लिखित तहरीर के आधार पर थाना सासनी पर मुख्य आरोपी गौरव शर्मा व अन्य साथियों के विरुद्ध सुसंगत धाराओं में नामजद अभियोग पंजीकृत किया गया है। मुख्य नामजद हत्यारोपी ललित शर्मा पुत्र सन्तोष शर्मा को पुलिस ने गिरफ्तार किया है, जबकि बाकियों की तलाश जारी है।’

You May Also Like

More From Author

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments