Subscribe for notification

प्रतापगढ़ में पटेल किसानों पर दबंग ब्राह्मणों ने दिया था पुलिस संरक्षण में हमलों को अंजाम: माले जांच टीम

लखनऊ। भाकपा (माले) की राज्य इकाई ने प्रतापगढ़ जिले में पिछड़े समुदाय के किसानों पर सामंती ताकतों द्वारा पुलिस के संरक्षण में किए गए हमले की निंदा की है। पार्टी के राज्य सचिव सुधाकर यादव के नेतृत्व में तीन सदस्यीय जांच टीम ने आज घटनास्थल का दौरा किया। जिले की पट्टी तहसील के गोविंदपुर व परिषद गांवों में हुई इस घटना में रविवार को ब्राह्मण दबंगों ने पुलिस की मौजूदगी में पिछड़े वर्ग के पटेल किसानों पर हमला कर दिया था। बर्बर तरीके से अंजाम दी गयी इस घटना में दबंगों ने पटेलों के घरों में आग लगा दी थी। इस आग में दो भैंसें जल कर मर गईं। किसानों की तरफ से भी इस हमले का प्रतिवाद भी हुआ था।

घटना के बाद पुलिस ने 11 नामजद व 50 अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर 11 किसानों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। धर-पकड़ व दहशत से ज्यादातर किसान गांवों से पलायन कर चुके हैं। पुलिस-प्रशासन का जनविरोधी चेहरा एक बार फिर सामने आ गया है। वह हमलावरों को बचाने की कोशिश कर रहा है। और पूरे मामले में पीड़ितों को ही आरोपी बना दिया गया है।

राज्य सचिव ने कहा कि योगी शासन में सामंती तत्वों का मनोबल बढ़ गया है और लॉकडाउन के दौरान कमजोर वर्गों पर हमलों की घटनाओं में बाढ़ आ गयी है। गौर करने की बात यह है कि इस तरह की सारी घटनाओं में दबंग हमलावरों को पुलिस प्रशासन खुला संरक्षण हासिल है और कमजोर लोगों की कहीं सुनवाई नहीं हो रही है। उन्होंने उक्त घटना की स्वतंत्र व निष्पक्ष जांच, दबंग हमलावरों व उनका पक्ष लेने वाले पुलिस अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई और पीड़ित किसानों का उत्पीड़न फौरन रोकने की मांग की है।

मामले की पृष्ठभूमि की जहां तक बात है तो गांव के अमर तिवारी की भैंस ने पटेल किसान की खेती का नुकसान किया, जिसकी शिकायत किसान महिला ने तिवारी के घर पर की। इसे अपने सामंती रुआब को चुनौती समझ कर तिवारी ने महिला के घर पर चढ़कर उसके पति की बुरी तरह पिटाई कर दी। इस घटना का भी किसानों ने जोरदार प्रतिवाद किया। बाद में पुलिस के साथ मिलकर सामंतों ने किसानों के ऊपर हमला बोल दिया। अभी भी किसानों में रोष और भय व्याप्त है। माले जांच टीम में राज्य सचिव के साथ कर्मचंद वर्मा व अमर बहादुर पटेल शामिल थे।

This post was last modified on June 15, 2020 2:00 pm

Janchowk

Janchowk Official Journalists in Delhi

Leave a Comment
Disqus Comments Loading...
Share
Published by

Recent Posts

राजनीतिक पुलिसिंग के चलते सिर के बल खड़ा हो गया है कानून

समाज में यह आशंका आये दिन साक्षात दिख जायेगी कि पुलिस द्वारा कानून का तिरस्कार…

32 mins ago

रेल राज्यमंत्री सुरेश अंगाड़ी का कोरोना से निधन, पीएम ने जताया शोक

नई दिल्ली। रेल राज्यमंत्री सुरेश अंगाड़ी का कोरोना से निधन हो गया है। वह दिल्ली…

12 hours ago

इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला केंद्र के रांची केंद्र में शिकायतकर्ता पीड़िता ही कर दी गयी नौकरी से टर्मिनेट

इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला केंद्र (IGNCA) के रांची केंद्र में कार्यरत एक महिला कर्मचारी ने…

13 hours ago

सुदर्शन टीवी मामले में केंद्र को होना पड़ा शर्मिंदा, सुप्रीम कोर्ट के सामने मानी अपनी गलती

जब उच्चतम न्यायालय ने केंद्र सरकार से जवाब तलब किया कि सुदर्शन टीवी पर विवादित…

15 hours ago

राजा मेहदी अली खां की जयंती: मजाहिया शायर, जिसने रूमानी नगमे लिखे

राजा मेहदी अली खान के नाम और काम से जो लोग वाकिफ नहीं हैं, खास…

16 hours ago

संसद परिसर में विपक्षी सांसदों ने निकाला मार्च, शाम को राष्ट्रपति से होगी मुलाकात

नई दिल्ली। किसान मुखालिफ विधेयकों को जिस तरह से लोकतंत्र की हत्या कर पास कराया…

18 hours ago