चुनाव आयोग ने ममता की सुरक्षा में मानी चूक, कई अफसरों के खिलाफ कार्रवाई

चुनाव आयोग ने विवेक सहाय को सुरक्षा निदेशक के पद से हटा दिया है इसके साथ ही उन्हें निलंबित भी कर दिया गया है। इसके अलावा चुनाव आयोग ने पूर्वी मेदिनीपुर के पुलिस अधीक्षक प्रवीण प्रकाश को निलंबित कर दिया है। साथ ही जिलाधिकारी विभु गोयल को भी हटा दिया गया है।

ममता बनर्जी से जुड़ी नंदीग्राम की घटना के बाद विवेक सहाय को सुरक्षा निदेशक के पद से हटाकर उन्हें निलंबित कर दिया है। चुनाव आयोग ने कहा है कि “जेड+ प्रोटेक्टी की सुरक्षा के लिए सुरक्षा निदेशक के रूप में अपने प्राथमिक कर्तव्य के निर्वहन में विफल रहने के लिए एक सप्ताह में उनके खिलाफ़ आरोप तय होना चाहिए।”

चुनाव आयोग ने कार्रवाई करते हुए कहा, “स्टार प्रचारकों सहित सभी उम्मीदवारों को किसी भी दुर्घटना या झड़प से बचने के लिए संबंधित कानूनों के तहत निर्धारित हेलीकॉप्टर सहित किसी भी वाहन के उपयोग के दौरान सुरक्षा निर्देशों का पालन करना चाहिए।

निर्वाचन आयोग ने आगे कहा है कि चुनाव आयोग ने कैंपेन के दौरान समय-समय पर सभी उम्मीदवारों की सुरक्षा और सलामती पर जोर दिया। हालांकि चुनाव आयोग ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर नंदीग्राम में पूर्व नियोजित हमला होने की बात से इनकार करते हुए कहा कि सुरक्षा में चूक के चलते उन्हें चोटें आईं।

गौरतलब है कि नंदीग्राम के दौरे के दौरान मुख्यमंत्री ममता बनर्जी घायल हो गयी थीं। उनके शरीर के कई हिस्सों में चोटें आयी थीं। ममता ने इसे साजिश भरा हमला बताया था जबकि विपक्ष इसे दुर्घटना करार दे रहा था। बहरहाल एक बात तो बिल्कुल तय थी कि ममता की उस दिन सुरक्षा में सुरक्षाकर्मियों की तरफ से बेहद चूक हुई थी।

This post was last modified on March 14, 2021 8:12 pm

Share
%%footer%%