Subscribe for notification

लाॅकडाउन: मदद मांगने पर झारखंड में आदिवासी लड़की का सामूहिक बलात्कार

देश में लाॅकडाउन से एक तरफ हर तबका परेशान है, तो वहीं दूसरी तरफ झारखंड में मानवता को शर्मसार करने वाली घटना घटी है। जिस पर विश्वास करके लड़की ने अपने मदद के लिए बुलाया, उसी ने मौके का फायदा उठाकर अपने 9 दोस्तों के साथ जंगल में उसके साथ सामूहिक बलात्कार किया।

झारखंड के दुमका में लॉकडाउन में एक शर्मनाक वारदात सामने आई है। यहां लॉकडाउन के बाद गांव लौट रही इंटर की 16 वर्षीय छात्रा से 10 युवकों ने गैंगरेप किया है। यह घटना 24 मार्च को गोपीकांदर के गड़ियापानी जंगल में हुई। गैंगरेप का खुलासा तब हुआ, जब किशोरी ने गोपीकांदर थाना पुलिस को अपना बयान दिया। छात्रा ने बताया कि मदद के लिए बुलाए गए एक दोस्त और उसके दोस्त ने रेप किया, फिर आठ अन्य युवक पहुंचे और गैंगरेप को अंजाम दिया। वह रात भर जंगल में बेहोश पड़ी रही।

किशोरी गोपीकांदर प्रखंड क्षेत्र की रहने वाली है। दुमका शहर के शिवपहाड़ में  किराए के मकान में रहकर एसपी कॉलेज से इंटर कर रही है। लॉकडाउन के कारण कॉलेज बंद हो गया था। वाहन भी नहीं चल रहे थे। वह 24 मार्च को अपनी एक सहेली के साथ स्कूटी से निकली। सहेली गोपीकांदर ने उसे कारूडीह मोड़ के पास छोड़कर अपने घर पाकुड़ ज़िले की ओर चली गई।

पुलिस को दिए बयान में किशोरी ने बताया कि कारूडीह पहुंचने से पहले उसने अपने परिजनों को फोन किया था। शाम होने के बाद भी परिजन नहीं पहुंचे तो अपने एक दोस्त विक्की उर्फ प्रसन्नजीत हांसदा को फोन किया। युवक गोपीकांदर प्रखंड के दड़ंगखरौनी का रहने वाला है। वह बाइक लेकर तुरंत कारूडीह मोड़ पहुंच गया। युवक एक दोस्त को भी लेकर पहुंचा था। तीनों एक बाइक से निकले। इस बीच विक्की ने घर जाने के रास्ते की बजाय दूसरे कच्चे रास्ते पर बाइक ले गया।

किशोरी ने जब विक्की से कहा कि यह घर जाने का रास्ता नहीं है तो उसने कहा कि रास्ते पर चेकिंग चल रही है, इसलिए कच्चे रास्ते से होकर घर जा रहे हैं। कुछ दूरी पर जाकर विक्की ने सुनसान जंगल के पास बाइक को रोक दिया और कहा कि उसे शौच लगी है। किशोरी उसके अज्ञात दोस्त के साथ काफी देर तक सुनसान जंगल में खड़ी रही। इसी बीच विक्की पहुंचा और अपने दोस्त के साथ मिलकर उसके साथ दुष्कर्म किया। दुष्कर्म करने के बाद आठ युवक नकाब पहने पहुंचे और जान से मार देने की धमकी देते हुए गले पर चाकू लगा दिया। इसके बाद सभी युवकों ने बारी-बारी से गैंगरेप किया।

वाईएस रमेश, एसपी, दुमका का कहना है कि  छात्रा के साथ गैंगरेप की घटना हुई है। आरोपियों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज की गई है। अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हो पायी है।

रात भर जंगल में बेहोश पड़ी रही किशोरी

सामूहिक दुष्कर्म के दौरान छात्रा बेहोश हो गई। दूसरे दिन 25 मार्च की सुबह वह जंगल से किसी तरह से रेंगते हुए सड़क पर आई तो ग्रामीणों ने देखकर परिजनों को सूचित किया। मौके पर मां, पिता एवं भाई आए और उसे उठाकर घर लेकर चले गए। भाई ने गोपीकांदर थाना की पुलिस को सूचित किया। गोपीकांदर थाना की पुलिस ने किशोरी को दुमका मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती कराया।

(राँची से रुपेश कुमार सिंह की रिपोर्ट।)

This post was last modified on March 27, 2020 1:07 pm

Leave a Comment
Disqus Comments Loading...
Share

Recent Posts

राजनीतिक पुलिसिंग के चलते सिर के बल खड़ा हो गया है कानून

समाज में यह आशंका आये दिन साक्षात दिख जायेगी कि पुलिस द्वारा कानून का तिरस्कार…

1 hour ago

रेल राज्यमंत्री सुरेश अंगाड़ी का कोरोना से निधन, पीएम ने जताया शोक

नई दिल्ली। रेल राज्यमंत्री सुरेश अंगाड़ी का कोरोना से निधन हो गया है। वह दिल्ली…

13 hours ago

इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला केंद्र के रांची केंद्र में शिकायतकर्ता पीड़िता ही कर दी गयी नौकरी से टर्मिनेट

इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला केंद्र (IGNCA) के रांची केंद्र में कार्यरत एक महिला कर्मचारी ने…

14 hours ago

सुदर्शन टीवी मामले में केंद्र को होना पड़ा शर्मिंदा, सुप्रीम कोर्ट के सामने मानी अपनी गलती

जब उच्चतम न्यायालय ने केंद्र सरकार से जवाब तलब किया कि सुदर्शन टीवी पर विवादित…

16 hours ago

राजा मेहदी अली खां की जयंती: मजाहिया शायर, जिसने रूमानी नगमे लिखे

राजा मेहदी अली खान के नाम और काम से जो लोग वाकिफ नहीं हैं, खास…

17 hours ago

संसद परिसर में विपक्षी सांसदों ने निकाला मार्च, शाम को राष्ट्रपति से होगी मुलाकात

नई दिल्ली। किसान मुखालिफ विधेयकों को जिस तरह से लोकतंत्र की हत्या कर पास कराया…

19 hours ago