Subscribe for notification

थाईलैंड में उद्योगपति किशोर मारिवाला के सामने पेश आया अजीबोगरीब वाकया, कहा- घटना से मैं बेहद शर्मिंदा हूं

(बिस्कुट बनाने वाली कंपनी मैरिको के मालिक किशोर मारीवाला ने यह पोस्ट लिखा है। उद्योग जगत में उनकी छवि गंभीर उद्योगपति की रही है। उनके पोस्ट का हिंदी अनुवाद पढ़ें। पढ़ें और सोचें कि हम कहां आ गये हैं: संपादक)
मैं शर्मिंदा हूं।
मैं फुकेट,थाईलैंड आया हूं। छुट्टी मनाने के लिए। मैंने एक हफ्ते के लिए पहले से बुक कर रखा था। जब मैं पहुंचा तो उसके ऑफिस में जरूरी सूचना देनी थी जिसके बाद सैर का मजा ले सकूं। ऑफिस के स्टॉफ प्यार से सभी इंतजाम को पूरा कर रहे थे। इसी दौरान उनमें से एक ने मुझसे पूछा-क्या आप भारत से हैं? क्या आप हिंदू हैं? मैं सवालों पर हैरान हुआ और हां कहते हुए पूछा कि यह मुझसे क्यों पूछ रहे हैं। तब तक उसने अपने बॉस को जानकारी दी। चंद मिनटों में उसका बॉस घबराते हुए आया। वे आपस में कुछ देर तक थाई भाषा में बात करते रहे। फिर उनका बॉस मेरी तरफ मुखातिब हुआ। उसने सहमे अंदाज में कहा-नौका तो है लेकिन उनके पास उन्हें देने के लिए सिर्फ एक स्टॉफ है और वह मुस्लिम है। क्या वह उनके साथ जाना पसंद करेंगे? उसने कहा-आप बुरा नहीं मानेंगे।


मैं हतप्रभ था। मैं पूछा- आप यह क्यों कह रहे हैं? मैं क्यों बुरा मानूंगा?
उसने कहा-मैंने कहीं पढ़ा। हिंदुओं को मूसलमान पसंद नहीं है। वे उनके साथ रहना पसंद नहीं करते हैं।
मेरे सामने कोई शब्द नहीं थे। मैं खुद से शर्मिंदा था। मैंने उसे समझाया-हिंदू ऐसे कतई नहीं है। वे सभी को पसंद करते हैं।
क्या विदेशों में वहां आम लोगों के बीच हमारी छवि ऐसी बनी रही है ?
मैं वास्तव में बहुत शर्मिंदा हूं।

उधर उनके भतीजे और मारिवाला के चेयरमैन हर्ष मारिवाला ने जेएनयू में हुई हिंसा की निंदा की है। उन्होंने ट्विटर की एक पोस्ट में कहा कि अहिंसा की धरती से आने के चलते इस तरह की हिंसा को प्रोत्साहन मिलना और उनका गवाह बनना किसी भी रूप में स्वीकार्य नहीं है। कल की खबर को देखकर मन बेहद आहत हुआ है।

Related Post
Share
Published by

Recent Posts

संदर्भ भारत छोड़ो आंदोलन: गोलवलकर और सावरकर का था स्वतंत्रता आंदोलन से 36 का रिश्ता

भारत के स्वाधीनता संग्राम की जो विशेषताएं उसे विलक्षण बनाती हैं, उनमें उसका सर्वसमावेशी स्वरूप…

1 hour ago

भगवा गैंग के नफ़रतगर्द की मौत पर लोगों की प्रतिक्रिया नफ़रत की राजनीति का नकार है

क्या विडबंना है कि हम पत्रकार इस मरनकाल में चुनिंदा मौतों पर बात कर रहे…

4 hours ago

मनोज सिन्हा की ताजपोशी: कश्मीर पर निगाहें, बिहार पर निशाना

जिस राजनेता का नाम कभी उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के लिए चला हो और अंतिम…

5 hours ago

स्वास्थ्य क्षेत्र में कार्यरत ठेका कर्मचारियों ने किया लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज के बाहर प्रदर्शन

नई दिल्ली। जहां एक ओर कोरोना काल में भी संघ-बीजेपी से जुड़े लोगों को उन्मादी…

6 hours ago

मंडल कमीशन के आईने में असमानता के खिलाफ जंग और मौजूदा स्थिति

विश्व के किसी भी असमानता वाले देश में स्वघोषित आरक्षण होता है। ऐसे समाजों में…

6 hours ago

केरलः अब शॉपिंग माल से चलेगा संघ का ‘हिंदुत्व का व्यापार’

तिरुअनंतपुरम। केरल को देवताओं का देश कहा जाता है। पर्यटन विभाग ने भी इसे प्रचार…

9 hours ago

This website uses cookies.