कोरोना मरीज के शव को लेकर राँची में बवाल, क़ब्रिस्तान में दफ़नाने के विरोध में सड़कों पर उतरे लोग

Estimated read time 1 min read

रांची। कोरोना पॉजिटिव मरीज की रिम्स में मौत के बाद रविवार को कब्रिस्तान में शव को दफनाने का स्थानीय लोगों ने विरोध कर दिया। बड़ी संख्या में महिला-पुरुष सड़क पर उतर आए और शव को रातू रोड कब्रिस्तान में दफनाने का विरोध किया। इससे पूर्व बरियातू स्थित जोड़ा तालाब कब्रिस्तान में भी इस शव को दफनाने का लोगों ने विरोध किया और सड़क पर उतर आए।

इस दौरान लॉक डाउन का पूरी तरह से उल्लंघन किया गया। पुलिस-प्रशासन ने लोगों को समझाया पर वो नहीं माने। इसके बाद पुलिस ने अनाउंस कर यह कहा कि अगर आप लोग नहीं चाहते तो शव यहां नहीं दफनाया जाएगा। आप लोग घरों में चले जाइए। हालांकि इस दौरान शव रिम्स में रखा गया था।

रविवार सुबह हिंदपीढ़ी के रहने वाले कोरोना पॉजिटिव एक मरीज की रिम्स के कोविड वार्ड में मौत हो गई। दोपहर बाद मरीज के शव को दफनाने की प्रक्रिया शुरू की गई। पुलिस-प्रशासन की टीम सबसे पहले बरियातू स्थित जोड़ा तालाब कब्रिस्तान में शव दफनाने के लिए पहुंची।

लोगों को जैसे ही इसकी सूचना मिली, वो घरों से बाहर निकल आए और इसका विरोध शुरू कर दिया। पुलिस-प्रशासन ने लोगों को समझाने का प्रयास किया पर लोग नहीं माने। इसके बाद पुलिस-प्रशासन की टीम रातू रोड कब्रिस्तान पहुंची। रातू रोड कब्रिस्तान के पास भी स्थानीय लोगों ने इस शव को दफनाने का विरोध कर दिया और बड़ी संख्या में सड़क पर उतर आए।

लोगों का कहना है कि यहां शव दफनाने पर कोरोना का संक्रमण फैल सकता है। शव को शहर से बाहर कहीं और दफनाया जाए। लोग कब्रिस्तान के मुख्य गेट के बाहर बैठ गए। पुलिस-प्रशासन ने लोगों से बात की पर वो नहीं माने। इसके बाद शव वहां नहीं दफनाने का आश्वासन देकर पुलिस ने लोगों को घरों में चले जाने की अपील की।

(दैनिक भास्कर के पोर्टल से साभार)

You May Also Like

More From Author

+ There are no comments

Add yours