Tuesday, March 5, 2024

प्रतापगढ़: प्रशासन के रवैये से खफा बीजेपी विधायक ने सड़क पर लेट कर किया विरोध

उत्तर प्रदेश में भाजपा की सरकार है, केंद्र में भी भाजपा की सरकार है। यूपी पुलिस से लेकर सीबीआई, प्रवर्तन निदेशालय निर्वाचन आयोग सब सरकार के मातहत काम कर रही है, बावजूद इसके भाजपा विधायक को धरना देना पड़ रहा है, सड़क पर लेटकर जान की दुहाई देनी पड़ रही है।

उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ जिले के प्रतापगढ़ जिले में रानीगंज विधानसभा सीट से भाजपा के विधायक अभय कुमार उर्फ धीरज ओझा मतदाता सूची में व्यापक धांधली का आरोप लगा डीएम कार्यालय पर दिन में दो बजे धरने पर बैठ गए। मौके पर उनको मनाने के लिए डीएम पहुंचे। डीएम साहेब मना भी ले गए, लेकिन इसके बाद वहां पहुंचे एसपी आकाश तोमर से उनकी झड़प हो गई। विधायक ने गुस्से में अपना कुर्ता फाड़ डाला व फिर से ज़मीन पर धरने पर बैठ गए। भाजपा विधायक द्वारा एसपी के खिलाफ़ आरोप लगाने के बाद उनके समर्थक उग्र हो गए और डीएम आवास पर नारेबाजी शुरू हो गई।

क्या है पूरा मामला

प्रतापगढ़ जिले में रानीगंज विधानसभा सीट से भाजपा के विधायक अभय कुमार उर्फ धीरज ओझा मतदाता सूची में व्यापक धांधली का आरोप लगा डीएम कार्यालय पर दिन में दो बजे धरने पर बैठ गए। उनको मनाने के लिए डीएम पहुंचे। मनाकर ले गए, पर इसके बाद वहां पहुंचे एसपी आाकाश तोमर से उनकी झड़प हो गई। विधायक ने गुस्से में अपना कुर्ता फाड़ डाला व फिर से जमीन पर धरने पर बैठ गए।

भाजपा विधायक का आरोप है कि पंचायत चुनाव लड़ने के इच्छुक एक व्यक्ति का नाम पांच महीने से मतदाता सूची में नहीं जोड़ा जा रहा है। इसके अलावा कई और शिकायतें हैं, जिन पर प्रशासन कोई कार्रवाई नहीं कर रहा है, इसलिए वह धरने पर बैठे हैं।

भाजपा विधायक अपने समर्थकों के साथ धरने पर बैठे ही थे कि मौके पर डीएम और एसपी चुनाव दौरे से वापस आ गए। इसके बाद विधायक दफ्तर से बाहर निकले और अचानक ज़मीन में लेट कर विरोध प्रदर्शन करने लगे। इस दौरान विधायक ने एसपी द्वारा गोली मारने की धमकी देने का आरोप लगाया। डीएम के कार्यालय से विधायक फटे कपड़े में बाहर निकले। इसके बाद विधायक को डीएम ने खुद अपने पास बुलाया और इस समय बंद कमरे में विधायक और अफसरों के बीच बातचीत हुई।

वहीं भाजपा विधायक द्वारा धमकी के आरोप मामले में एसपी आकाश तोमर ने कहा है कि भाजपा विधायक झूठा आरोप लगा रहे हैं। सम्पूर्ण प्रकरण से पुलिस का कोई संबंध नहीं है। उल्टे एसपी ने भाजपा विधायक पर दुर्व्यवहार का आरोप लगाते हुए कहा है कि – “मैंने विधायक को दुर्व्यवहार करने से रोका तो झूठा आरोप लगा दिया। एसपी प्रतापगढ़ आकाश तोमर का कहना है कि विधायक धीरज ओझा धरने के दौरान अनुचित व्यवहार कर रहे थे। उन्हें मना किया गया तो वह मुझ पर तरह- तरह का आरोप लगाने लगे।

वहीं इस मामले में विपक्षी दलों के नेताओं ने भी प्रतिक्रियायें दी है। उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेट के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने कहा है – “प्रतापगढ़ भाजपा विधायक का हाल। अपराधियों को ठोकने में नाकाम योगी सरकार की पुलिस अब विधायकों को ठोकने में लगी है। योगी की ठोको नीति।”

जबकि समाजवादी पार्टी नेता व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि – “जब गुंडों और अपराधियों पे बस न चले तो, जनप्रतिनिधियों, विधायक सांसदों पे लाठियां बरसाओ। प्रतापगढ़ रानीगंज से भाजपा विधायक धीरज ओझा जी पे जिस प्रकार SP तोमर जी ने लाठियां भांजी है वह योगी जी के कुंठित विचारधारा का प्रतीक हैं। लोकतंत्र की गरिमा योगीराज में तार-तार हो चुकी है।”

आम आदमी पार्टी सांसद संजय सिंह ने कहा है – “आदित्यनाथ जी के राज में जब विधायक खुद पीटे जा रहे हैं तो जनता का क्या हाल होगा आप स्वयं अंदाज़ा लगा सकते हैं?”

वहीं सोशल मीडिया पर की तरह की प्रतिक्रियायें आ रही हैं।

जनचौक से जुड़े

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

Latest Updates

Latest

Related Articles