Saturday, April 1, 2023

राकेश टिकैत ने दी डीएम को चेतावनी, कहा-फैसला नहीं टला तो खिरिया बनेगा किसानों के बड़े आंदोलन का मैदान

Janchowk
Follow us:

ज़रूर पढ़े

जमुआ, आज़मगढ़। जीवन-जमीन बचाने के लिए पिछले 28 दिनों से संघर्ष कर रहे किसान-मजदूरों के संघर्ष में कल किसान नेता राकेश टिकैत भी शामिल हुए।

किसान आंदोलन के नेता राकेश टिकैत ने कहा कि एक भी किसान अपनी जमीन नहीं देना चाहेगा तो उसकी लड़ाई मैं यहां लड़ूंगा। यहां एक भी किसान जमीन देने को तैयार नहीं है ऐसे में किसी भी हालत में यहां एयरपोर्ट नहीं बनाया जा सकता है। उन्होंने जिलाधिकारी को चेतावनी देते हुए कहा कि किसी भी तरह के उत्पीड़न की कार्रवाई में न जाएं नहीं तो खिरिया का मैदान देश के किसानों के बड़े आंदोलन का मैदान होगा।

rakesh tikait2

टिकैत ने कहा कि जमीन की लड़ाई आदिवासियों से सीखनी चाहिए कि वो किस तरह से सेना तोप के आगे जमीन बचाने की लंबी लड़ाई लड़ रहे हैं। ये संघर्ष लंबा है हम किसानों के साथ हैं। शांति एकता के जरिए ही आन्दोलनों की जीत होती है।

भारतीय किसान यूनियन के नेता राजवीर सिंह जादौन ने कहा कि जमीन, मकान के बाद आने वाले समय में जान बचाने की लड़ाई लड़नी होगी। आठ गांवों का सवाल है आप और ताकत लगाइये। हिंदुस्तान के किसान को जाति-धर्म में नहीं बंटना चाहिए।

rakesh3

सभा की अध्यक्षता रामनयन यादव, संचालन किसान नेता राजीव यादव ने किया।

(प्रेस विज्ञप्ति पर आधारित।)

जनचौक से जुड़े

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of

guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

Latest News

क्या कर्नाटक का किला फतह कर कांग्रेस बंद कर देगी भाजपा का दक्षिण का प्रवेशद्वार?

नई दिल्ली। कर्नाटक विधानसभा चुनाव पर पूरे देश की निगाहें लगी हैं। राज्य में भाजपा, कांग्रेस और जेडीएस प्रमुख...

सम्बंधित ख़बरें