Subscribe for notification

बेरोजगार सप्ताह के पहले दिन इलाहाबाद में युवाओं की गिरफ़्तारी

बेरोजगार युवाओं ने आज 14 सितंबर से शुरू हुए मानसून सत्र के समानांतर ‘बेरोजगार सप्ताह’ मनाने की शुरुआत की। दरअसल भाजपा मोदी के जन्मदिन वाले सप्ताह को ‘सेवा सप्ताह’ के तौर पर मना रही है। इसके खिलाफ़ बेरजोगार युवा बेरोजगारी को देश की सबसे बड़ी समस्या बताते हुए इस सप्ताह को ‘बेरोजगार सप्ताह’ के तौर पर मना रहे हैं। बेरोजगार सप्ताह के आज पहले दिन देश के कई शहरों में बेरोज़गार युवाओं ने विरोध प्रदर्शन के कार्यक्रम किए।

इस कड़ी में उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद, आगरा, सोनभद्र, आजमगढ़, गाजीपुर, जौनपुर, बांदा, शामली, सीतापुर, चंदौली, लखनऊ, मऊ, मिर्जापुर, आजमगढ आदि जनपदों में युवा मंच के बैनर तले प्रदर्शन आयोजित हुए। जिसमें रोजगार व विकास की गारंटी करो, सीमा विवाद हल करो, खाली 24 लाख से ज्यादा पदों को भरने, उत्तर प्रदेश में नौकरी के पहले 5 साल संविदा का योगी सरकार का फरमान खत्म करने, बेकारी भत्ता देने, लोकतांत्रिक अधिकारों पर हमला बंद करने जैसे सवालों पर आवाज बुलंद की गई।

14 सितंबर 2020, मानसून सत्र के पहले दिन आज युवा मंच और युवा हल्ला बोल की तरफ से रोजगार बने मौलिक अधिकार नारे पर वर्चुअल युवा संसद आयोजित की गई जिसका फेसबुक पर लाइव प्रसारण किया गया। इसमें उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, उड़ीसा, दिल्ली, बिहार, झारखंड के युवा संगठनों के प्रतिनिधि और आइसा के राष्ट्रीय अध्यक्ष  समेत रोजगार खोने से पीड़ित महिलाओं, बुनकरों, ग्रामीण गरीबों, प्रवासी मजदूरों ने अपनी बातचीत रखी। संसद में 17 सितम्बर को प्रधानमंत्री के जन्मदिन पर रोजगार के अधिकार के लिए कार्यक्रम करने और सभी राजनीतिक दलों से इस सत्र में प्रस्ताव लाने की मांग करने का फैसला हुआ।

इलाहाबाद में युवाओं की गिरफ्तारी

इलाहाबाद में बालसन चौराहे पर आज बेरोजगार सप्ताह के पहले दिन युवा मंच द्वारा जबरदस्त विरोध-प्रदर्शन किया गया। शांतिपूर्ण प्रदर्शन में 500 से ज्यादा छात्र युवा एकजुट हुए। वहीं बेरोजगार युवाओं के विरोध-प्रदर्शन से घबड़ाई भाजपा सरकार ने विरोध प्रदर्शन को रोकने के लिए यूपी पुलिस बल भेजा। यूपी पुलिस ने युवा मंच के अध्यक्ष अनिल सिंह, अमरेंद्र सिंह बाहुबली, शशि धर यादव, अरविंद सिंह, राहुल कुमार पटेल, बलराम सिंह, कुलदीप कुमार, शोभित सिंह आदि को कार्यक्रम के दरम्यान ही गिरफ्तार कर लिया।

गिरफ्तारी से पहले कार्यक्रम का युवा हल्ला बोल के अनुपम, आइसा के राष्ट्रीय अध्यक्ष एन. साईबाला, युवा मंच संयोजक राजेश सचान, वर्कर्स फ्रंट अध्यक्ष दिनकर कपूर, अटेवा अध्यक्ष विजय बंधु, मधुसूदन शेट्टी, गोविन्द मिश्रा, आलोक राजभर, रूबी सिंह गोंड़,  प्रीती श्रीवास्तव, नागेश गौतम, पूजा पांडेय, महनिश, स्नेहा राय, इकबाल अंसारी, गौरव सिंह, योगीराज सिंह पटेल, डॉ. अरविंद मिश्रा, रवि प्रकाश, सूरज कोल, जितेंद्र गुप्ता, रजनी राणा, विनोद कुमार, आलोक यादव, प्रशांत कुमार पाल, जगत कुमार वर्मा, शशिधर यादव, विनोद कुमार सिंह आदि लोगों ने नेतृत्व किया।

#NoMoreBjp, #बेरोजगार_सप्ताह ट्विटर पर ट्रेंड कर रहा

#NoMoreBjp, #बेरोजगार_सप्ताह ट्विटर पर ट्रेंड कर रहा है। इसे अब तक 94 हजार ट्वीट्स मिले हैं।

प्रधानमंत्री मोदी के जन्मदिन को ‘राष्ट्रीय बेरोजगार दिवस’ के तौर पर मनाने की अपील

देश के बेरोज़गार युवा वर्ग ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जनम दिवस यानि 17 सितंबर को ‘राष्ट्रीय बेरोजगार दिवस’ के रूप में मनाने का संकल्प लिया है।

पीयूष मिश्रा कहते हैं- हमें आपके झूठे जुमले नहीं चाहिए। हमें जॉब चाहिए। हमें रोजगार चाहिए। इसलिए तुम्हारे जन्मदिन को हम बेरोजगार दिवस के तौर पर मना रहे हैं।

This post was last modified on September 14, 2020 7:44 pm

Janchowk

Janchowk Official Journalists in Delhi

Share
Published by