लीगल सेल के साथ संगठन सचिव ने किया महोबा का दौरा, कहा- कांग्रेस कार्यकर्ताओं का दमन बर्दाश्त नहीं

Estimated read time 1 min read

महोबा। ‘गाय बचाओ, किसान बचाओ’ पदयात्रा के दौरान महोबा में कांग्रेस कार्यकर्ताओं के ऊपर बर्बर लाठीचार्ज और पुलिसिया उत्पीड़न का जायजा लेने के लिए कांग्रेस की लीगल टीम और प्रदेश संगठन सचिव अनिल यादव ने कबरई का दौरा किया और कार्यकर्ताओं से मुलाक़ात की। प्रतिनिधि मंडल में प्रदेश सचिव अखिलेश शुक्ल, सोमेश त्रिपाठी, अमानुर रहमान और अज़हर फ़ैज़ खान शामिल थे।

आपको बता दें कि 30 दिसम्बर को महोबा के कबरई ब्लॉक में कांग्रेस की पदयात्रा की शुरुआत होनी थी। करीब 11 बजे सैकड़ों की तादात में ‘गाय बचाओ किसान बचाओ’ पदयात्रा के कार्यकर्ताओं का जत्था जमा हुआ। अनुशासित तरीके से कार्यकर्ता पदयात्रा करना चाहते थे लेकिन सीओ सिटी और एसडीएम ने पदयात्रा रोक दिया और बर्बर लाठीचार्ज करवाया जिससे दर्जनों कार्यकर्ताओं को गंभीर चोट आई।

पदयात्रा रोकी और बर्बर पुलिसिया दमन जारी

संगठन सचिव अनिल यादव ने बताया कि ललितपुर से शुरू हुई ‘किसान बचाओ-गाय बचाओ’ पदयात्रा 26 दिसम्बर को शुरू हुई थी, लेकिन वहां भी प्रदेश अध्यक्ष समेत सैकड़ों पदयात्रियों को गिरफ्तार कर लिया गया था। 30 दिसम्बर को पदयात्रा महोबा में निकलनी थी लेकिन कबराई में कार्यकर्ताओं पर बर्बर लाठीचार्ज हुआ। लाठीचार्ज के बाद पूर्व मंत्री प्रदीप आदित्य जैन, उपाध्यक्ष योगेश दीक्षित, महासचिव राहुल राय, प्रदेश सचिव अखिलेश शुक्ला, जिला अध्यक्ष तुलसीदास लोधी, सागर सिंह, प्रदेश उपाध्यक्ष पिछड़ा वर्ग श्रवण कुमार साहू, आफाक सरवर, डॉ संतोष धुरिया को गिरफ्तार करके पुलिस लाइन महोबा ले जाया गया। देर शाम 8 बजे एसडीएम की उपस्थिति में निजी मुचलके पर आंदोलनकारियों को रिहा किया गया।

लाठीचार्ज में घायल कार्यकर्ता।

उन्होंने कहा कि अगले दिन 90 नामजद कार्यकर्ताओं समेत 300 अज्ञात लोगों के खिलाफ संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज कर दिया गया। सिर्फ इतना ही नहीं योगी आदित्यनाथ ने पुलिसिया उत्पीड़न की हदें पार कर दींl  सभास्थल से 9 बाइक और साउंड सिस्टम के साथ एक चारपहिया वाहन पुलिस ने जब्त कर लिया है। उनका आरोप है कि वाहनों की तोड़ फोड़ भी पुलिसकर्मियों ने की है।

दौरे पर गए संगठन सचिव अनिल यादव और अखिलेश शुक्ला ने कहा कि योगी आदित्यनाथ की सरकार में सरेआम लोकतंत्र की हत्या हो रही है। भाजपा नेता पूरे देश मे घूम घूमकर रैली कर रहे हैं। लेकिन भाजपा शासित राज्यों में राजनैतिक कार्यकर्ताओं का दमन किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में लोकतंत्र खत्म हो गया है। हिटलरशाही चरम पर है।

इस मौके पर अनिल यादव के तेवर बेहद कड़े थे। खासकर अफसरों के रवैये को लेकर। उन्होंने कहा कि सत्ता आती जाती रहती है यह बात अधिकारियों और राजनैतिक दलों को याद रखनी चाहिए। संगठन सचिव ने कहा कि कार्यकर्ताओं के ऊपर दमन बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

प्रदेश सचिव अखिलेश शुक्ला ने कहा कि महोबा में आज भी पुलिसिया दमन जारी है। पुलिस लगातार कार्यकर्ताओं को धमका रही है। लेकिन कांग्रेस के कार्यकर्ता डरेंगे नहीं। हर दमन और उत्पीड़न के खिलाफ आखिरी दम तक लड़ा जाएगा।

प्रदेश लीगल टीम के सदस्यों सोमेश त्रिपाठी, अमानुर रहमान और अज़हर फ़ैज़ खान ने जारी प्रेस नोट में कहा कि इस कार्यक्रम की सूचना प्रशासन को मुकम्मल तरीके से दिया गया था। शांतिपूर्ण तरीके से विरोध दर्ज कराना हमारा लोकतांत्रिक अधिकार है लेकिन पुलिस ने सत्ता के इशारे पर लाठीचार्ज करके लोकतंत्र की हत्या की।

(प्रेस विज्ञप्ति पर आधारित।)

You May Also Like

More From Author

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments