31.1 C
Delhi
Thursday, August 5, 2021

हापुड़ में छह साल की बच्ची के साथ दरिंदगी से चौतरफा उबाल, महिला संगठनों ने योगी सरकार को दी चेतावनी

Janchowkhttps://janchowk.com/
Janchowk Official Journalists in Delhi

ज़रूर पढ़े

हापुड़ में छह साल की बच्ची से बर्बरतापूर्वक ब्लात्कार की घटना से चौतरफा उबाल है। बच्ची की हालत गंभीर बनी हुई है। अभी तक अपराधी की गिरफ्तारी भी नहीं हुई है। उत्तर प्रदेश के महिला संगठनों ने योगी सरकार को महिला अपराधों पर लगाम लगाने की चेतावनी दी है।

प्रदेश के प्रमुख महिला संगठनों ऐपवा, एडवा, महिला फेडरेशन, साझी दुनिया और हम सफर ने संयुक्त ऑनलाइन प्रोटेस्ट के ज़रिए उत्तर प्रदेश के हापुड़ में छह साल की बच्ची के साथ बर्बरता के दोषियों की गिरफ्तारी की मांग की।  

ऐपवा की संयोजक मीना सिंह ने कहा कि बच्ची से रेप की घटना ने न सिर्फ मानवता को शर्मसार किया है बल्कि बलात्कारियों, अपराधियों को मिल रहे संरक्षण की राजनीति और योगी राज में क़ानून व्यवस्था की खस्ता हालत को भी बेनकाब कर दिया है।

एडवा प्रदेश उपाध्यक्ष मधु गर्ग ने कहा कि प्रदेश में महिलाएं सुरक्षित नहीं हैं। योगी आदित्यनाथ की सरकार महिलाओं को सुरक्षा देने में नाकाम साबित हो रही हैं। प्रदेश की महिलाओं की सुरक्षा और बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का नारा देने वाली भाजपा के राज में बेटियां सबसे ज्यादा असुरक्षित हैं। प्रदेश में महिलाओं और बच्चियों के ऊपर यौन हिंसा की बाढ़ आ गई है।

ऐपवा नेता शशि मिश्रा ने कहा कि प्रदेश में लंपटों, अपराधियों का मनोबल कितना बढ़ा हुआ है, इसका अंदाज़ा इसी बात से लगाया जा सकता है कि अभी हापुड़ की बर्बरता को एक सप्ताह भी नहीं बीता है कि कल ही पश्चिमी उत्तर प्रदेश के उसी इलाके में, बुलंदशहर में अमरीका में पढ़ रही होनहार सुदीक्षा भाटी के साथ अपराधियों ने छेड़खानी की और उनकी स्कूटी से गिरकर ऐक्सिडेंट में मौत हो गई।

NAPM की अरुंधति धुरु ने कहा कि शोहदों-अपराधियों द्वारा कानून से बेखौफ होकर अंजाम दी जा रही इस तरह की यौन हिंसा की घटनाओं के लिए पुलिस प्रशासन को जवाबदेह बनाया जाना चाहिए।

महिला फेडरेशन की अध्यक्ष आशा मिश्र ने कहा कि इन वारदातों पर लगाम न लगी तो महिला संगठन सड़कों पर उतरेंगे। हम हर हाल में पितृसत्ता की विचारधारा तथा उसे संरक्षण देने वाली राजनीतिक ताकतों के खिलाफ लड़ने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

लखनऊ विश्विद्यालय की पूर्व कुलपति, साझी दुनिया की रूप रेखा वर्मा ने इस पूरी मुहिम को अपना पुरजोर समर्थन दिया तथा मार्गदर्शन किया। प्रोटेस्ट में शामिल अन्य प्रमुख लोगों में ऋत्विक दास, सुमन सिंह, सालिहा, कमला, गीता पांडे, RB  सिंह, मोइज़मा, मुस्कान, ओमप्रकाश राज, केडी ठाकुर आदि शामिल रहे।

Latest News

हॉकी खिलाड़ी वंदना के हरिद्वार स्थित घर पर आपत्तिजनक जातिवादी टिप्पणी करने वालों में एक गिरफ्तार

नई दिल्ली। टोक्यो ओलंपिक में सेमीफाइनल मैच में भारतीय महिला हॉकी टीम के अर्जेंटीना के हाथों परास्त होने के...
जनचौक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें

Girl in a jacket

More Articles Like This

- Advertisement -