Friday, March 1, 2024

पंजाब: बेटी के गंभीर आरोपों से संकट में मुख्यमंत्री भगवंत मान

चंडीगढ़। पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान की बेटी सीरत कौर ने अपने पिता पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं। बेटी के आरोपों और खुलासों के बाद मान की छवि संकट में आ गई है। राजनीतिक प्रतिद्वंदी मुख्यमंत्री को घेर रहे हैं। सूबे के हर कोने में सीरत कौर के खुलासों की चर्चा हो रही है। आम आदमी पार्टी (आप) फिलहाल तक इस सब पर खामोश है।

मुख्यमंत्री भगवंत मान बेटी सीरत कौर ने सोशल मीडिया के जरिए मुखातिब हुईं। वह बोलीं, “सत श्री अकाल। मेरा नाम सीरत कौर मान है। मैं पंजाब के मुख्यमंत्री भगवत मान की बेटी हूं। एक बात मैं पहले ही कहना चाहती हूं कि मैं इस वीडियो में सिर्फ उन्हें मिस्टर मान या सीएम साहब कहूंगी। मेरे मुंह से पापा सुनने का हक वह काफी पहले खो चुके हैं। मैं यह वीडियो किसी राजनीतिक उद्देश्य या वजह से नहीं जारी कर रही। मैं चाहती हूं कि हमारी कहानी भी सामने आए।”

सीरत कौर ने आगे कहा कि “आज तक जो लोगों के सामने आया है, वह सीएम साहब की जुबानी आया है। इस वजह से जो हमें भुगतना पड़ा; वह असहनीय है। आज तक हम चुप रहे हैं और मेरी मां भी खामोश है, मुझे लगता है कि इन्होंने समझ लिया कि हमारी चुप्पी हमारी कमजोरी है। इन्हें नहीं मालूम कि हमारे खामोश रहने की वजह से वह इस पद पर हैं। पहली बात मैं कहना चाहूंगी मान की वाइफ डॉ. गुरप्रीत मान गर्भवती हैं। वह तीसरी बार पिता बनने जा रहे हैं। यह बात मुझे लोगों से पता चली है।” 

मुख्यमंत्री से संबोधित होते हुए उनकी बेटी ने कहा कि, “मुझे आपने बताना जरूरी नहीं समझा और न अपने बेटे दिलशान को। मैं पूछना चाहती हूं कि जो दो बच्चे हैं, मैं 23 साल की हूं और मेरा भाई 19 साल का होने वाला है- आपने उन्हें भुलाकर और किनारे करके उनकी जिम्मेदारी नहीं ली तो आप एक और बच्चा इस दुनिया में लेकर आने लगे हैं, इसके पीछे क्या वजह है।”         

वीडियो में सीरत कहती हैं कि, “दिलशान बीते साल में दो बार चंडीगढ़ गया कि मैं अपने पिता के साथ समय बिताऊं लेकिन मुख्यमंत्री ने उसे सीएम हाउस में नहीं आने दिया। हमारे पारिवारिक मित्रों के साथ रहा। एक दिन वह मुख्यमंत्री निवास चला गया तो आधी रात को उसे यह कहकर घर से निकाल दिया कि कृपया यहां से चले जाओ, तुम यहां नहीं रह सकते। जो व्यक्ति अपने बच्चों की जिम्मेदारी नहीं उठा सकता, वह पंजाब के लोगों की कैसे उठा लेगा। जो कुछ हमने देखा, अपनी जिंदगी में-वही वह पंजाब के लोगों का कर रहे हैं।” 

सीरत के मुताबिक, “तलाक की वजह उन्होंने यह बताई थी कि मेरी पत्नी नहीं चाहती कि मैं राजनीति में आऊं। तलाक के काफी कारण हैं। वह मेरी मां की कहानी है, बताने के लिए जब तैयार होंगी तो जरूर बताएंगी। कुछ कारण मैं बता देती हूं। शराब पीना, बेतहाशा झूठ बोलना। मेरी मां का भावनात्मक और शारीरिक शोषण करना।” 

मुख्यमंत्री भगवंत मान पर बेहद गंभीर आरोप लगाते हुए उनकी बेटी ने कहा कि, “शराब पीकर वह आज भी कभी विधानसभा चले जाते हैं, कभी गुरुद्वारे और कभी प्रेस कॉन्फ्रेंस में। मुझे नहीं मालूम कि यह कैसी आदत है। भावनात्मक ब्लैकमेलिंग वह हमारे साथ करते रहे। कभी रोकर और कभी सॉरी बोलकर।”

सीरत ने कहा कि “आज मैं देखती हूं कि कभी किसी बेटी को गले लगा कर रो रहे हैं और कभी किसी महिला को। वैसी ही इमोशनल ब्लैकमेलिंग पंजाब के लोगों के साथ कर रहे हैं। हमदर्दी हासिल करने के लिए, अपने फायदे के लिए।”

बेटी ने कहा कि “बहुत बातें हैं और मुझे बताते हुए घंटा बीत जाएंगे लेकिन मैं सिर्फ-सिर्फ यह निवेदन करना चाहती हूं कि हमारा नाम उनके साथ न जोड़ा जाए। इन्होंने साफ कर दिया है कि हम उनके परिवार में नहीं आते मैं और मेरा भाई उनके परिवार का हिस्सा नहीं। इनका परिवार अब फिर से शुरू होने लगा है।”             

जारी वीडियो में अपने पिता मुख्यमंत्री भगवंत मान को संबोधित करते हुए सीरत कौर कहती हैं, “मिस्टर मान, मुबारक! आप फिर से पिता बनने चले हैं। मैं सिर्फ यही दुआ कर सकती हूं कि उन बच्चों की जिंदगी हमसे बेहतर हो, उन बच्चों के लिए आप एक अच्छा पिता साबित हो सकें।

एक निवेदन मैं और करूंगी कि जिस पंजाब के लिए आपने अपना परिवार छोड़ा था, उस पंजाब के बच्चों के लिए, उस पंजाब की माताओं के लिए और बहनों के लिए कुछ कर दीजिए। अपनी जिम्मेदारी लीजिए तो शायद आपको माफी नसीब हो जाए। जो कुछ आपने हमारे साथ किया, उसके लिए आपको माफी मिल जाए।” 

मुख्यमंत्री की बेटी का वीडियो वायरल होने के बाद सूबे की सियासत गर्मा गई है। शिरोमणि अकाली दल के वरिष्ठ नेता और पूर्व मंत्री बिक्रमजीत सिंह मजीठिया ने कहा कि, “सीरत कौर के वीडियो ने बता दिया है कि भगवंत मान की असलियत क्या है। जो अपने बच्चों का नहीं, वह किसी का क्या होगा। मुख्यमंत्री का असली किरदार वही है जो उनकी बेटी ने बयान किया है।”

शिरोमणि अकाली दल के महासचिव जगदीप सिंह चीमा के अनुसार, “मुख्यमंत्री भगवंत मान अपने परिवार को संभालते तो आज उनके पारिवारिक सदस्य सार्वजनिक तौर पर न बोलतेे।” 

आम आदमी पार्टी का कोई भी छोटा या बड़ा नेता इस पर प्रकरण पर प्रतिक्रिया देने को तैयार नहीं। जो हो, बेटी की ओर से लगाए गए इतने गंभीर इल्जामों के बाद भगवंत मान को देर-सबेर जुबान तो खोलनी ही पड़ेगी। उनके लिए यह भी दिक्कत का सबब है कि सीरत कौर ने साफ तौर पर कहा है कि वक्त आने पर उनकी मां यानी मुख्यमंत्री की पहली पत्नी भी बोलेंगी। 

(अमरीक वरिष्ठ पत्रकार हैं।)

जनचौक से जुड़े

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

Latest Updates

Latest

Related Articles