Tuesday, January 18, 2022

Add News

CPI ML

दमनकारी तंत्र के खिलाफ़ एक काउंटर तंत्र खड़ा करना होगा: नितिन राज

अपनी तीसरी जेल यात्रा में 66 दिन गुज़ारकर जमानत पर बाहर आये छात्र नेता नितिन राज ने जेल यात्रा से लेकर देश, समाज, विचार और राजनीति समेत कई मुद्दों पर अपनी बातें खुलकर रखी हैं। बता दें कि नितन...

भारत बंद: समर्थन में यूपी की सड़कों पर उतरे माले व किसान महासभा कार्यकर्ता

लखनऊः भाकपा (माले) व अखिल भारतीय किसान महासभा के कार्यकर्ता तीन कृषि कानूनों को रद्द कराने के लिए संयुक्त किसान मोर्चे (SKM) द्वारा शुक्रवार को बुलाये गए भारत बंद के समर्थन में यूपी के विभिन्न जिलों में सड़कों पर...

बिहार में विधानसभा के बाहर विपक्ष ने लगाया समानांतर सदन

विधानसभा के इतिहास में पहली बार बिहार के सभी विपक्षी दलों के सदस्यों ने विधानसभा के बाहर सदन लगाया। राष्ट्रीय जनता दल के विधायक भूदेव चौधरी को अध्यक्ष चुनकर सदन का संचालन किया और बिहार विधानसभा में विपक्षी विधायकों...

भाकपा माले ने पूछा- सरकार कहां है! मुख्यमंत्री योगी की कर्मभूमि पर भी महिलाएं असुरक्षित

लखनऊ। भाकपा (माले) की राज्य इकाई ने गोरखपुर में मंगलवार रात घर लौट रही नाबालिग लड़की के साथ गैंगरेप की घटना की कड़ी निंदा की है। पार्टी ने कहा है कि प्रदेश ही नहीं, मुख्यमंत्री की कर्मभूमि पर भी...

बिहार: सीपीआई (एमएल) ने भेजा महागठबंधन के पास 25 जनवरी को मानव श्रृंखला बनाने का प्रस्ताव

भाकपा-माले ने देशव्यापी किसान आंदोलन के समर्थन में महागठबंधन की पार्टियों राष्ट्रीय जनता दल, सीपीआई और सीपीआईएम से गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या 25 जनवरी को पूरे बिहार में संयुक्त रूप से मानव शृंखला बनाने की अपील की है।...

योगी की जिद पर भारी पड़ा बंद समर्थकों का हौसला! लाठीचार्ज, नजरबंदी और गिरफ्तारियों में बीता दिन

कृषि के काले कानूनों के खिलाफ आज किसान संगठनों ने ‘भारत बंद’ का आह्वान किया है। अन्नदाता की इस लड़ाई को कमजोर करने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार ने पूरा जोर लगा दिया। विपक्ष के कई नेताओं को उनके...

किसानों के समर्थन में वाम दलों का पूरे बिहार में विरोध-प्रदर्शन

पटना। किसान विरोधी तीनों कृषि कानूनों की वापसी की मांग कर रहे किसानों पर बर्बर दमन के खिलाफ आज बुधवार को पटना में भाकपा-माले सहित अन्य वाम दलों के आह्वान पर बुद्धा स्मृति पार्क में सभा आयोजित हुई। प्रदर्शनकारियों...

बिहार नतीजों को चूक नहीं, विपक्ष की उपलब्धि की नज़र से देखा जाना चाहिए: कविता कृष्णन

(कविता कृष्णन राष्ट्रीय स्तर पर एक जाना पहचाना नाम है। पिछले दिनों तमाम आंदोलनों से जो कुछ चेहरे सामने आए हैं उनमें कविता कृष्णन का स्थान प्रमुख है। सिविल सोसाइटी के आंदोलनों में सक्रिय दखल रखने वाली कविता वामपंथी...

बिहार चुनाव नतीजेः नीतीश की अगली चूक उन्हें पहुंचा देगी हाशिये पर

बिहार चुनाव के नतीजों के बाद नीतीश कुमार के लिए सोचने का समय है कि सोशलिस्ट विचारधारा को त्याग कर भाजपा से हाथ मिलाने का उन्हें कितना नुकसान और भाजपा को कितना फायदा हो रहा है। जदयू के वोट...

चुनाव में कल्पित शुद्धतावाद की अपेक्षा क्यों?

बिहार चुनाव में मुख्यतः दो गठबंधन हैं। राजद, कांग्रेस और वामदलों वाला महागठबंधन और सत्ता में मौजूद नीतीश कुमार की जदयू और भाजपा के नेतृत्व वाला राजग। एक तीसरा कोण बनाया गया है केंद्र में राजग का ही हिस्सा...
- Advertisement -spot_img

Latest News

पुस्तक समीक्षा: सर सैयद को समझने की नई दृष्टि देती है ‘सर सैयद अहमद खान: रीजन, रिलीजन एंड नेशन’

19वीं सदी के सुधारकों में, सर सैयद अहमद खान (1817-1898) कई कारणों से असाधारण हैं। फिर भी, अब तक,...
- Advertisement -spot_img