Monday, August 8, 2022

प्रयागराज: जब एक पिता को कंधे पर बेटे की लाश को लेकर तय करना पड़ा 35 किमी का सफर

प्रयागराज। एक भूमिहीन कृषि मज़दूर के दस वर्षीय बेटे (जिसके परिवार का राशन कार्ड भी नहीं बना) शुभम ने जब सुना कि गांव के मंदिर में सावन का भंडारा...

बहुजन ढो रहे हैं हिंदुत्व की कांवड़

प्रयागराज। बड़े-बड़े बैनरों से सजा डीजे, मालवाहक वैन और ट्रैक्टरों पर निकलने वाली कांवड़ यात्रा सावन के पहले...

50 साल के कर्मचारी अयोग्य हैं तो नेता कैसे योग्य ?

एक बुजुर्ग जो अभी स्वास्थ्य विभाग में सेवारत हैं 50 साल पार के राज्यकर्मियों को जबरन रिटायर करने...

चंद दिनों पहले पानी की कमी से जूझ रही गंगा में भीषण रेत कटान, बनारस में मंडरा रहा बाढ़ का खतरा

वाराणसी। पहले से ही छिछली गंगा में बहाव बढ़ने से रामनगर की तरफ रेत का बड़े पैमाने पर...

एक आदिवासी महिला देश की राष्ट्रपति बनी, दूसरी बेरहम पिटाई के बाद खेत में हुई बेहोश

रांची। देश की पहली आदिवासी महिला के तौर पर जब द्रौपदी मुर्मू राष्ट्रपति पद का शपथ ले रही...

सुप्रीम कोर्ट से अडानी-अंबानी को राहत, दस्तावेजों के लिए सेबी के खिलाफ रिलायंस की याचिका मंजूर

उच्चतम न्यायालय से अंबानी और अडानी को राहत मिली है। उच्चतम न्यायालय ने शुक्रवार को एक शेयर अधिग्रहण मामले में अपनी जांच में भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (सेबी) द्वारा उपयोग किए गए कुछ दस्तावेजों के लिए रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) को पहुंच प्रदान की। भारत के चीफ जस्टिस एनवी रमना, जस्टिस जेके माहेश्वरी और जस्टिस हेमा कोहली की पीठ ने फैसला सुनाते हुए कहा कि सेबी का कर्तव्य निष्पक्ष रूप से कार्य करना है न कि कानून के शासन को दरकिनार करना। बड़ी कंपनियों के खिलाफ मुकदमे की कार्रवाई का अर्थव्‍यवस्‍था पर प्रतिकूल असर पड़ता है। ऐसी कार्रवाई करने से पहले रेगुलेटरों और कोर्टों को हर पहलू को ध्‍यान में रखना चाहिए। चीफ जस्टिस एनवी रमना, जस्टिस जेके माहेश्वरी और जस्टिस  हेमा कोहली की पीठ ने बुधवार को ही बॉम्बे हाईकोर्ट के एक फैसले को चुनौती देने वाली अडानी पोर्ट्स द्वारा दायर अपील पर जवाहरलाल नेहरू पोर्ट अथॉरिटी से जवाब मांगा जिसने नवी मुंबई में बंदरगाह...

जनता पर भारी पड़ रही है सरकार के दिखावे की देशभक्ति

आजादी की 75वीं वर्षगांठ पर भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने नया फरमान जारी किया है। 15 अगस्त को हर घर पर तिरंगा फहराया जाएगा। झण्डे उपलब्ध कराने की...

नये भारत की नई न्याय व्यवस्था 

विगत दिनों सुप्रीम कोर्ट के अनेक फैसले नकारात्मक कारणों से चर्चा में रहे। इनमें कुछ फैसले जरा पुराने थे...

लोकतांत्रिक अधिकारों के प्रति अपनी संकीर्ण सोच के लिए याद किए जाएंगे जस्टिस खानविलकर

जस्टिस एएम खानविलकर रिटायर हो गए हैं। पर रिटायर होने के पहले उन्होंने जिन कुछ मुकदमों का निस्तारण किया है, उनके फैसलों में आए...

आज़ादी के पचहत्तर वर्ष: प्रोपोगंडा बनाम यथार्थ

भारत की स्वतंत्रता के 75 वर्ष पूरे हो रहे हैं। यह अजीब संयोग और विडंबना है कि स्वतंत्रता आंदोलन से विरत रहने वाले, आज़ादी...

जरूरी खबर

हम से जुड़े रहें

जनचौक पोर्टल से दैनिक ईमेल प्राप्त करें। खबरें जो आप से जुड़ी होती हैं। देश और दुनिया की होती हैं। खबरें जिन्हें छुपाया जाता है। वह सब कुछ यहां मिलेगा नि:शुल्क।

0 / ₹500

426 अन्य की तरह आप भी जनचौक के सहयोग के साथी बनें।

जंतर-मंतर

संस्कृति-समाज

राज्य

भाजपा क्या छत्तीसगढ़ में तख्तापलट की कोशिश कर रही है

रायपुर। छत्तीसगढ़ में इन दिनों सूर्यकांत तिवारी सुर्खियों में हैं। छत्तीसगढ़ के कोयला कारोबारी सूर्यकांत तिवारी ने रायपुर में...