26.1 C
Delhi
Thursday, September 16, 2021

Add News

बादल सरोज

आरएसएस-बीजेपी पर साया है ‘अल्ला हू अकबर’ और ‘हर हर महादेव’ के नारे का खौफ!

5 सितम्बर के मुज़फ्फरनगर के इतवार की खासियतें इस बार कारपोरेट गोदी मीडिया के एक हिस्से को भी दर्ज करनी पड़ी। लगभग हरेक ने माना कि पिछली 25 वर्षों में-- जबसे इस इलाके में किसानों के बड़े-बड़े जमावड़ों की...

….और फिर वे इन्फोसिस के मूर्तिभंजन के लिये आये; नारायण, नारायण

आरएसएस और भाजपा की दीदादिलेरी काबिलेगौर है।  वे जितनी फटाफट द्रुत गति से अपने मुखौटे उतार रहे हैं उससे जिन्हें अब भी  यह भ्रम था कि पहले तोहमतें लगाकर बदनाम करना, उसके बाद नफरतें उभारना और आखिर में मॉब-लिंचिंग...

जय श्रीराम; अभिवादन को युद्धघोष बनाने के पीछे आखिर क्या है मकसद?

पिछले पखवाड़े न दशहरा था न रामनवमी मगर पूरी हिंदी पट्टी में जय श्रीराम के ललकारों की बहार सी आयी पड़ी थी। कानपुर से इंदौर तक, उज्जैन से देवास होते हुए दूर पहाड़ों से लेकर बिहार के गंगा मैदान...

उनके तालिबान तालिबान हमारे वाले संत !

अपने 20 साल के नाजायज और सर्वनाशी कब्जे के दौरान अफ़ग़ानिस्तान से लोकतान्त्रिक संगठनों, आंदोलनों और समझदार व्यक्तियों का पूरी तरह सफाया करने के बाद अमरीकी उसे तालिबानों के लिए हमवार बनाकर, उन्हें इस खुले जेलखाने की चाबी थमाकर...

किसान आंदोलन के नौ माह (तीन): भाजपा के छल, छद्म और पाखण्ड को रौंदते हुए आगे बढ़ा आंदोलन

आज नौ महीने पूरे करने वाले किसान आंदोलन ने भाजपा  के ब्रह्मास्त्र आईटी सेल और पाले पोसे कारपोरेट मीडिया के जरिये किये जाने वाले दुष्प्रचार और उसके जरिये उगाई जाने वाली नफरती भक्तों की खरपतवार की जड़ों में भी, काफी...

किसान आंदोलन के नौ माह (दो): युवाओं की भागीदारी और उसके मायने

26 अगस्त यानि कल किसान आंदोलन के 9 महीने पूरे हो जाएंगे। इस किसान आंदोलन की ऐतिहासिकता और विशेषताओं के बारे में काफी कुछ लिखा जा चुका है - लिखा जाएगा। इसमें इसके विरोधियों को भी कोई संदेह नहीं...

किसान आंदोलन के नौ महीने (1): भारत के जनांदोलनों के इतिहास के असाधारण संग्राम की विशेषताएं

26 अगस्त को नौ महीने पूरे कर रहे किसान आंदोलन को किसी परिचय या भूमिका की आवश्यकता नहीं है।  यहां सीधे इसकी कुछ विशेषताओं पर आते हैं।   इस असाधारण किसान आन्दोलन की इन सबसे भी कहीं ज्यादा बुनियादी और दूरगामी छाप छोड़ने...

विभाजन विभीषिका स्मृति के बहाने हॉरर के रौरव की तैयारी

जो आपदा में कमाई और लूट के अवसर ढूंढ सकते हैं, अकाल मौतों को छुपाने में राहत महसूस कर सकते हैं, बर्बादी और विनाश में आह्लाद देख सकते हैं वे भला उत्सव और समारोहों के मौकों को भी त्रासद और विभाजन का...

मनुवादी ढपोरशंखियों के निशाने पर हैं देश का मस्तक ऊंचा करने वाली बेटियां

बुधवार को टोक्यो में भारत की लड़कियां जब जी-जान से अर्जेंटीना की टीम से जूझ रही थीं- शानदार मुकाबले में न जीत पाने के अफ़सोस में पूरा देश था। लड़कियां इस सबके बावजूद भारत के लिए कांस्य-पदक लाने की...

दैनिक भास्कर; मसला सेठ का नहीं, प्रेस का है

आखिरकार पिछले पखवाड़े देश के प्रमुख हिंदी अखबार दैनिक भास्कर पर मोदी-शाह के इनकम टैक्स और सीबीडीटी के छापे पड़ ही गए।पिछले कुछ महीनों से इस तरह की आशंका जताई जा रही थी। आम तौर से सत्ता समर्थक और...

About Me

50 POSTS
0 COMMENTS
- Advertisement -spot_img

Latest News

यूपी में नहीं थम रहा है डेंगू का कहर, निशाने पर मासूम

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने प्रदेश में जनसंख्या क़ानून तो लागू कर दिया लेकिन वो डेंगू वॉयरल फीवर,...
- Advertisement -spot_img

Log In

Or with username:

Forgot password?

Forgot password?

Enter your account data and we will send you a link to reset your password.

Your password reset link appears to be invalid or expired.

Log in

Privacy Policy

Add to Collection

No Collections

Here you'll find all collections you've created before.