Monday, February 6, 2023

राम पुनियानी

सांप्रदायिक एजेंडे की खातिर इतिहास से छेड़छाड़ कर रहे मोहन भागवत!

सन् 2018 में दिल्ली के विज्ञान भवन में अपने व्याख्यानों की श्रृंखला में आरएसएस के मुखिया मोहन भागवत ने जिस तरह की भाषा का प्रयोग किया था उससे कुछ समीक्षकों को लगा था कि आरएसएस में क्रांतिकारी परिवर्तन हो...

भारत जोड़ो यात्रा : एक तपस्वी के साथ कुछ कदम

लगभग 3 माह पहले शुरू हुई भारत जोड़ो यात्रा अपने समापन के करीब है। यात्रा हरियाणा पहुंच गई है और अपनी अंतिम मंजिल श्रीनगर की ओर बढ़ रही है। मैं इस यात्रा पर शुरू से ही नजर रखे हुए...

चुनावी मौसम में कैसे बना रहे सद्भाव

जैसे-जैसे कर्नाटक विधानसभा चुनाव नजदीक आते जा रहे हैं वैसे-वैसे लोगों को बांटने वाले वक्तव्यों और भाषणों की संख्या भी बढ़ रही है। भोपाल से लोकसभा सदस्य साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने कर्नाटक के शिमोगा में बोलते हुए कहा...

केपी शशि: अद्भुत रचनात्मक अभिव्यक्ति, बेजोड़ प्रतिबद्धता

सन् 1970 का दशक भारत में लगभग सभी क्षेत्रों में प्रतिरोध के आंदोलनों के उभार के लिए जाना जाता है। इस दशक में मजदूरों और कृषकों के संगठित आंदोलन तो जारी रहे ही साथ ही आदिवासियों, महिलाओं और दलितों...

मौलाना आजाद फेलोशिप बंद: शिक्षा में पहले से ही पिछड़े मुसलमानों के लिए नई मुसीबत

यूपीए-1 सरकार द्वारा 2005 में नियुक्त सच्चर समिति की रपट सन् 2006 में जारी हुई थी। इस रपट के अनुसार देश में मुसलमान, सामाजिक और राजनैतिक जीवन के हर क्षेत्र में पिछड़ते जा रहे हैं। उनके खिलाफ अनवरत हिंसा ने उनके मन में असुरक्षा का...

गुजरात चुनाव में भाजपा की जीत: ध्रुवीकरण की प्रमुख भूमिका

हाल में गुजरात एवं हिमाचल प्रदेश विधानसभा एवं दिल्ली नगर निगम के चुनावों के परिणाम घोषित हुए। जहां गुजरात में भाजपा ने शानदार जीत हासिल की वहीं दिल्ली में उसे मुंह की खानी पड़ी। हिमाचल प्रदेश में सरकार उसके...

अनुसूचित जनजातियां:आदिवासी या वनवासी?

अपनी भारत जोड़ो यात्रा के दौरान राहुल गांधी ने एक स्थान पर आदिवासियों को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘भाजपा के लोग आपको आदिवासी नहीं कहते। वे आपको किस नाम से पुकारते हैं? वे आपको वनवासी कहते हैं। वे आपको...

कश्मीरः इतिहास का तोड़ना-मरोड़ना शांति की राह में बाधक

कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाते समय यह दावा किया गया था कि इससे घाटी में शांति स्थापित होगी और परेशान हाल कश्मीरी पंडित समुदाय को सुरक्षा मिल सकेगी। पिछले 3 सालों में घाटी में 8 से अधिक कश्मीरी पंडितों...

पतन की पराकाष्ठा पार कर गयी है देश की चुनावी राजनीति

भारत के स्वाधीन होने के बाद हुए चुनावों में कई दशकों तक लगातार स्वाधीनता आंदोलन का नेतृत्व करने वाली भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस आसानी से जीत हासिल करती रही। उस समय कांग्रेस के मुख्य विरोधियों में कम्युनिस्ट व समाजवादी पार्टियां...

खड़गे के कंधे पर है बड़ी जिम्मेदारी

हाल में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के अध्यक्ष पद के चुनाव में वरिष्ठ कांग्रेस नेता और राजनीति में लंबा अनुभव रखने वाले मल्लिकार्जुन खड़गे निर्वाचित घोषित किए गए। इस अत्यंत महत्वपूर्ण और प्रतिष्ठित पद पर बैठने वाले वे तीसरे दलित...

About Me

89 POSTS
0 COMMENTS

Latest News

जमशेदपुर में धूल के कणों में जहरीले धातुओं की मात्रा अधिक-रिपोर्ट

मेट्रो शहरों में वायु प्रदूषण की समस्या आम हो गई है। लेकिन धीरे-धीरे यह समस्या विभिन्न राज्यों के औद्योगिक...