Tuesday, April 16, 2024

स्वदेश सिन्हा

एनसीईआरटी की इतिहास की पुस्तकों में हड़प्पा सभ्यता पर बड़ा बदलाव: सरकार की असली नीयत क्या है?

केन्द्र की भाजपा सरकार एनसीआरटी (NCERT) पुस्तकों में व्यापक बदलाव के लिए पिछले दिनों से काफ़ी चर्चा में रही थी, विशेष रूप से इतिहास की पुस्तकों से मुगलराज को हटाने के संबंध में। इस वर्ष बारहवीं कक्षा के इतिहास...

ग्रेट निकोबार द्वीप की प्राचीन जनजातियों के अस्तित्व पर संकट, द्वीप को सैन्य और व्यापार केंद्र में बदलने की योजना

आज दुनिया भर में सरकारें और कॉर्पोरेट मुनाफ़े की होड़ में सदियों पुराने जंगलों को नष्ट कर रही हैं, जिसके फलस्वरूप वहां रह रही प्राचीन जनजातियों के अस्तित्व पर ही संकट खड़ा हो गया है, इसके साथ ही पर्यावरण...

शहीद दिवस: आज भगत सिंह के समाजवादी विचारों की हमें क्यों ज़रूरत है?

आज से 93 साल पहले 23 मार्च 1931 की काली रात को देश के तीन सपूतों भगत सिंह, राजगुरु और सुखदेव को गुपचुप लाहौर सेंट्रल जेल में फांसी पर लटका दिया गया था। उस समय इन सपूतों की देश...

क्या भारत में साम्प्रदायिकता केवल उपनिवेशवाद की उपज है?

भारत में वर्तमान संघ परिवार की फासीवादी राजनीति के संदर्भ में इतिहासकारों, समाजशास्त्रियों तथा राज्ञनीतिज्ञों के बड़े वर्ग द्वारा इस तथ्य को बड़े ज़ोर-शोर से स्थापित किया जा रहा है कि हमारे देश में इतिहास के हर दौर में...

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस: क्या स्त्री मुक्ति का संघर्ष फासीवाद के ख़िलाफ़ हो रहे संघर्षों से जुड़ा है?

70 का दशक आंदोलनों का दशक था। सारी दुनिया में विभिन्न प्रकार के सामाजिक और राजनैतिक आंदोलन चल रहे थे। यूरोप-अमेरिका इनके केन्द्र बने थे। अमेरिका में उसके द्वारा वियतनाम में हो रही अमेरिकी बर्बरता के ख़िलाफ़ व्यापक आंदोलन...

समुद्र में डूबी द्वारका: मिथक को इतिहास बनाने की एक और साज़िश

दो दिन पहले हमारे प्रधानमंत्री जी समुद्र में डूबी द्वारका के दर्शन करने गए। वे गोताखोर की पोशाक पहनकर समुद्र में गए तथा कथित रूप से उन्होंने ध्यान लगाया, जब बाहर निकले तो बड़े प्रसन्न थे, उन्होंने...

दिल्ली विश्व पुस्तक मेला: क्या यह हिन्दी जाति की बौद्धिकता का अवसान है?

दिल्ली में दिनांक 10.2.24 से 18.2.24 तक हुए विश्व पुस्तक मेले का समापन हो गया है। कवि-लेखक और प्रकाशक आलोक श्रीवास्तव अपनी फेसबुक वॉल पर लिखते हैं-"20 साल पहले तक हिन्दी के लगभग डेढ़ हज़ार प्रकाशक पुस्तक मेले में...

भारत में नक़ली दवाओं का कारोबार: स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ कर रही हैं दवा कंपनियां

भारत की ‘केंद्रीय ड्रग मानक कंट्रोल संस्था’ की रिपोर्ट के मुताबिक़ अक्टूबर महीने तक भारत में जांच की गई दवाओं के 6% नमूने फेल हो गए हैं। छोटी और मध्यम कंपनियों के मामले में तो 65% कंपनियां तयशुदा मानकों...

वेलेंटाइन डे पर विशेष: प्रेम और विद्रोह के अंतर्विरोध

ये इश्क नहीं आसां इतना तो समझ लीजै। इक आग का दरिया है और डूब के जाना है।। जिगर मुरादाबादी ने यह शेर न जाने किन मन:स्थिति में लिखा होगा, परन्तु इस बात में कोई मतभेद नहीं होना चाहिए,कि हिन्दुस्तानी समाज...

दुनिया में करोड़ों लोग क्यों हैं भुखमरी के शिकार?

आज विज्ञान अपने विकास के चरम पर पहुंच गया है, जिसके बल पर आज लोग चन्द्रमा तथा अन्य ग्रहों पर बस्तियां बसाने की बात करने लगे हैं। दुनिया में अनाज की पैदावार इतनी अधिक होने लगी है कि सभी...

About Me

15 POSTS
0 COMMENTS

Latest News

श्रमिकों को इजराइल भेजना तत्काल बंद करे सरकार वर्कर्स फ्रंट ने केन्द्रीय श्रम मंत्री को भेजा पत्र

लखनऊ। इजरायल में भारत सरकार द्वारा भेजे जा रहे निर्माण मजदूरों के जीवन की सुरक्षा के लिए उन्हें तत्काल...