Monday, January 24, 2022

Add News

kisan

ऐतिहासिक होगा 25 सितम्बर का किसानों का बन्द व चक्का जाम

देश की खेती-किसानी व खाद्य सुरक्षा को कारपोरेट का गुलाम बनाने संबंधी तीन कृषि बिलों के खिलाफ पूरे देश के किसान संगठन 25 सितम्बर को देश भर में बंद व चक्का जाम व प्रतिरोध मार्च करेंगे। यह पहली बार...

रबी फसलों का घोषित समर्थन मूल्य किसानों की मेहनत पर डकैती: किसान सभा

रायुपर। छत्तीसगढ़ किसान सभा ने वर्ष 2020-21 की रबी फसलों के लिए कल घोषित न्यूनतम समर्थन मूल्य को "किसानों की मेहनत पर डकैती" करार दिया है और कहा है कि इसके खिलाफ 25 सितम्बर को किसान सड़कों पर उतरेंगे। आज...

छत्तीसगढ़ में विरोध-प्रदर्शन: “कर्ज़ नहीं, कैश दो” के नारे के साथ किसानों ने कहा- देश नहीं बिकने देंगे

रायपुर। मजदूर-किसान संगठनों के देशव्यापी आह्वान पर आज छत्तीसगढ़ के विभिन्न जिलों के अनेकों गांवों, मजदूर बस्तियों और उद्योगों में केंद्र सरकार की मजदूर-किसान विरोधी नीतियों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन आयोजित किये गए। इस प्रदर्शन के दौरान केंद्र और...

थर्मल प्लांट बंद होने से दुखी एक किसान ने खुदकुशी की

बठिंडा के गुरु नानक देव थर्मल प्लांट को बंद करने और बेचने के फैसले के विरोध में एक किसान कारकून ने खुदकुशी करके अपनी जान दे दी। मृतक जोगिंदर सिंह उर्फ भोला 56 साल के थे और भारतीय किसान...

डीजल-पेट्रोल के बढ़े दामों की वापसी के लिए संगठनों का प्रदर्शन

पटना। अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चा तेल सस्ता होने के बावजूद डीजल-पेट्रोल के दाम में लगातार वृद्धि के खिलाफ आज पटना में इनौस, खेग्रामस और किसान सभा के कार्यकर्ताओं ने विरोध-प्रदर्शन किया। देश व्यापी प्रतिवाद दिवस के तहत आज पटना के...

राष्ट्रीय स्तर पर कांग्रेस के लिए संजीवनी साबित हो सकती है भूपेश बघेल की किसान न्याय योजना

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा राजीव गांधी की पुण्यतिथि 21 मई के दिन प्रदेश में किसानों के लिए ‘राजीव गांधी किसान न्याय योजना’ लांच की गई है । उल्लेखनीय है कि विगत लोकसभा चुनाव के दौरान राहुल गांधी ने पूरे...

पंजाब में सजा काट रहे एक किसान नेता को जब जेल से छुड़ायी जनता!

यह मामला दरअसल 29 जुलाई 1997 से शुरू होता है, जिस दिन जिला बरनाला के कस्बा नुमा गांव महल कलां के निवासी मास्टर दर्शन सिंह - जो फिजिकली हैंडीकैप्ड हैं और एक सरकारी स्कूल टीचर हैं- की 17 वर्षीय बेटी किरणजीत कौर जब...

“एका” किसान आन्दोलन और आजादी की लड़ाई में वर्ग हितों की टकराहट का दस्तावेज

1920 से 1928 के बीच अवध के दो महान किसान नेताओं बाबा रामचंद्र और मदारी पासी के नेतृत्व में चले किसान संघर्षों के बारे में एक किताब को देखना और पढ़ना मेरे जैसे कार्यकर्ताओं के लिए एक सुखद अनुभूति है। मैंने खुद...
- Advertisement -spot_img

Latest News

कब बनेगा यूपी की बदहाली चुनाव का मुद्दा?

सोचता हूं कि इसे क्या नाम दूं। नेताओं के नाम एक खुला पत्र या रिपोर्ट। बहरहाल आप ही तय...
- Advertisement -spot_img