Thursday, February 22, 2024

nirmalasitaraman

परिसंपत्तियों को बेचने और कॉरपोरेट घरानों के मुनाफे को बढ़ाने का दस्तावेज है निर्मला का बजट

एलआईसी और आईडीबीआई में अपनी हिस्सेदारी बेचने का ऐलान वित्त मंत्री ने बजट में किया है। इससे पहले एयर इंडिया, भारत पेट्रोलियम, कंटेनर कारपोरेशन, टीएचडीसी आदि बेचने का फैसला सरकार ले ही चुकी है, रेलवे के निजीकरण की दिशा...

तबाही की तरफ जा रही है मोदी के नेतृत्व में भारत की अर्थव्यवस्था

मोदी सरकार की गलत आर्थिक नीतियों के कारण अर्थव्यवस्था तबाह हो गयी है। बढ़ते एनपीए के कारण बैंकिंग सेक्टर की हालत अब इतनी खराब हो चुकी है कि उसके पास एमएसएमई फर्मों को जो बड़े पैमाने पर निर्यात क्षेत्र से जुड़ी हुई...

बड़ी घोषणाओं के गुलाबी पर्दे में अर्थव्यवस्था की खस्ता हालत को छुपाने की कोशिश

मई के आम चुनावों में जीत के बाद भाजपा सरकार की नई वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 5 जुलाई को वित्त वर्ष 2019-20 के लिये बजट पेश किया। 2 घंटे से अधिक के लंबे बजट भाषण में वित्त मंत्री ने घोषणाओं की...

संकट के स्वेच्छाचारी समाधान का बजट

निर्मला सीतारमण का यह पहला बजट बजट नहीं, भारत के सरकारी बैंकों और एनबीएफसी के लिये बेलआउट पैकेज है। बैंकों के पांच लाख करोड़ के एनपीए को बट्टे खाते में डालने के बाद सरकार कह रही है कि बैंकों...

Latest News

कांग्रेस और ‘आप’ के बीच दिल्ली, गुजरात और हरियाणा में लोस सीटों को लेकर समझौता आखिरी चरण में

नई दिल्ली। कांग्रेस और 'आप' के बीच दिल्ली, गुजरात और हरियाणा में सीटों के बंटवारे को लेकर बातचीत तकरीबन...