Wednesday, October 20, 2021

Add News

अखिलेश कुमार

मेरे शिक्षक, मेरे साथी। अलविदा!

कोई 1994-95 के दरम्यां की बात है। महीना याद नहीं, सत्र भी लेट चल रहा था। इलाहाबाद विश्वविद्यालय की एम. ए. प्रथम वर्ष (आधुनिक इतिहास) के सत्र की पहली कक्षा थी। हमारा एक प्रश्नपत्र भारतीय संस्कृति से संबंधित था।...

About Me

1 POSTS
0 COMMENTS

Latest News

विपक्ष शासित राज्यों में सुरक्षा बलों के राजनीतिक इस्तेमाल की नई मिसाल

विपक्ष शासित राज्य सरकारों को अस्थिर या परेशान करने के लिए राज्यपाल, चुनाव आयोग, प्रवर्तन निदेशालय (ईडी), आयकर, केंद्रीय...