Estimated read time 1 min read
ज़रूरी ख़बर

ग्राउंड रिपोर्ट: अब सशक्त हो रही हैं ग्रामीण इलाकों की लड़कियां

0 comments

गनीगांव, उत्तराखंड। कुछ साल पहले तक उत्तराखंड के जिन गांवों की किशोरियां 8वीं या बहुत ज्यादा 10वीं तक ही पढ़ा करती थीं। जिन्हें लगता था [more…]

Estimated read time 1 min read
ज़रूरी ख़बर

ग्राउंड रिपोर्ट: बिहार के तुर्की ब्लॉक के गांवों की लड़कियों ने रग्बी फुटबॉल में बनाई पहचान

0 comments

मुजफ्फरपुर, बिहार। “सयानी लड़की होकर लड़कों के साथ हाफ पैंट पहनकर ग्राउंड में खेलती है, न इसको शर्म आती है और न इसके मां-बाप को!” [more…]

Estimated read time 1 min read
ज़रूरी ख़बर

ग्राउंड रिपोर्ट: शैक्षणिक बाधाओं से गुजरती राजस्थान के भोपालराम गांव की लड़कियां

0 comments

लूणकरणसर, राजस्थान। हमारे देश में आजादी के बाद जिन बुनियादी विषयों पर सबसे अधिक फोकस किया गया है, उनमें शिक्षा भी महत्वपूर्ण है। यह एक [more…]

Estimated read time 1 min read
ज़रूरी ख़बर

ग्राउंड रिपोर्ट: बाधाओं को पार कर सशक्त बन रहीं महादलित समाज की लड़कियां, शाहपुर गांव की संजना बनी मिसाल

0 comments

मुजफ्फरपुर, बिहार। 21वीं सदी के भारत ने कई क्षेत्रों में बदलाव व विकास के नए प्रतिमान स्थापित किये हैं। चाहे वह नए अनुसंधान का क्षेत्र [more…]

Estimated read time 1 min read
ज़रूरी ख़बर

ग्राउंड रिपोर्ट: परिवार और समाज की इज्जत का बोझ आखिर लड़कियां ही क्यों उठाएं?

0 comments

रौलियाना गांव, उत्तराखंड। समाज में औरतों को हमेशा से ही बंधनों में बांधकर रखा गया है। जिससे कि अगर उसके साथ किसी भी प्रकार की [more…]

Estimated read time 1 min read
ज़रूरी ख़बर

ग्राउंड रिपोर्ट: उत्तराखंड के मेगड़ी स्टेट की लड़कियों को कब मिलेगी पितृसत्तात्मक समाज की बेड़ियों से आजादी?

0 comments

मेगड़ी स्टेट, उत्तराखंड। कभी कभी हमारे देश में देखकर लगता है कि देश तो आजाद हो गया है, जहां सभी के लिए अपनी पसंद से [more…]

Estimated read time 1 min read
ज़रूरी ख़बर

ग्राउंड रिपोर्ट: खेलकूद की जगह घर के कामों में उलझा दी गईं मुजफ्फरपुर के हुस्सेपुर की लड़कियां

0 comments

मुजफ्फरपुर। हाल ही में संपन्न हुए एशियाई खेलों में भारत ने पहली बार मेडल का शतक लगाते हुए नया कीर्तिमान गढ़ दिया। इस एतिहासिक सफलता [more…]

Estimated read time 1 min read
ज़रूरी ख़बर

ग्राउंड रिपोर्ट: उत्तराखंड के गनीगांव में लड़कियां आज भी हैं खेल से वंचित, परिजन नहीं देते खेलने की इजाजत

0 comments

गनीगांव, उत्तराखंड। खेल खेलना आम तौर पर आपकी फिटनेस और स्वास्थ्य को बेहतर बनाने का एक शानदार तरीका है। इससे न सिर्फ आपका शरीर स्वस्थ [more…]

Estimated read time 1 min read
ज़रूरी ख़बर

आखिर किशोरियां ही क्यों चढ़ती हैं भेदभाव की सूली पर?

0 comments

बागेश्वर, उत्तराखंड। भारत में हर बच्चे का अधिकार है कि उसे, उसकी क्षमता के विकास का पूरा मौका मिले। लेकिन आज़ादी के सात दशक बाद [more…]

Estimated read time 1 min read
ज़रूरी ख़बर

भारत की 60 प्रतिशत लड़कियां खून की कमी का शिकार हैं

नेशनल फेमली हेल्थ सर्वे-5 (2019-21) की रिपोर्ट अनुसार देश की 59.1 प्रतिशत किशारवय लड़कियां (18 वर्ष से कम उम्र की) खून की कमी का शिकार [more…]