Saturday, July 2, 2022

Maharani Karnavati of Garhwal

देहरादून नहरों के बाद बाग भी इतिहास बनने की ओर

अंग्रेज पहली बार 1815 में देहरादून आए। गढ़वाल के अपदस्थ राजा मानवेन्द्र शाह के अनुरोध पर अंग्रेजों ने गढ़वाल पर कब्जा किए बैठे गोरखों को कई जगहों पर परास्त किया। अंतिम लड़ाई देहरादून के पास खलंगा में हुई। कई...
- Advertisement -spot_img

Latest News

खेला रुकना नहीं चाहिए

बर्बर हत्या की वीडियो खूब फैलायी जा रही है। अपनी तो बांछें खिल गयी हैं। निर्मम हत्या के वीभत्स...
- Advertisement -spot_img