Friday, October 22, 2021

Add News

mushayara

हिंद-पाक दोस्ती की असल अंबेसडर थीं फ़हमीदा रियाज़

फ़हमीदा रियाज़ को 1999 के आसपास मुज़फ़्फ़रनगर में हुए एक मुशायरे में सुनने का मौका मिला था। इस इंडो-पाक मुशायरे को लेकर उग्र हिंदुत्ववादी तत्वों ने माहौल में तनाव घोल रखा था। मुशायरे के संयोजक मनेश गुप्ता, एडवोकेट के...
- Advertisement -spot_img

Latest News

जहीर भाई, एक बनारस जो उनके साथ चला गया

जहीर भाई नहीं रहे। उनके साथ एक बनारस चला गया शायर पिता नज़ीर बनारसी ने जिस हिन्दुस्तान की तामीर...
- Advertisement -spot_img