Estimated read time 3 min read
बीच बहस

हिंदवी की संगत: प्रगतिशीलता और प्रतिक्रांति दोनों के फल खाते हिंदी बुद्धिजीवी 

`इंडियन प्रीमियर लीग-2023` का फाइनल मैच जीतने के बाद `चेन्नई सुपर किंग्स` टीम मैदान पर जश्न मना रही थी तो बल्लेबाज रवींद्र जडेजा की पत्नी [more…]

Estimated read time 4 min read
बीच बहस

सवर्ण वर्चस्ववाद के प्रतीक पुरुष राम क्यों RSS-BJP के खिलाफ संघर्ष में किसी काम के नहीं हैं?

राम पर केंद्रित ‘आदिपुरुष’ फ़िल्म को लेकर चल रहे शोर-शराबे के बीच पा. रंजीत की 2018 में आई फ़िल्म ‘काला’ को याद किया जाना चाहिए। [more…]

Estimated read time 1 min read
राजनीति

यूपी की राजनीति के लिए टर्निंग प्वाइंट साबित होगी मुजफ्फरनगर में किसानों की महापंचायत

राकेश टिकैत के बेबस आँसुओं से मर्माहत होकर एक विशाल जन-सैलाब इसी साल 29 जनवरी को मुज़फ़्फ़रनगर के गवर्नमेंट इंटर कॉलेज के मैदान में ख़ुद-ब-ख़ुद [more…]

Estimated read time 9 min read
बीच बहस

जन्मशती पर विशेष: साहिर न होते तो फ़ासिज़्म और क़रीब होता

(साहिर, 8 मार्च 1921- 28 अक्तूबर 1980; जन्म-शती साल)    साहिर लुधियानवी की बेशुमार लोकप्रियता से रश्क और रंजिश रखने वाली अदीबों की दुनिया में [more…]

Estimated read time 2 min read
संस्कृति-समाज

फिल्म श्रमजीवीः मजदूरों की जिंदगी का दर्द भरा दस्तावेज

यह सिलाई मशीन चलने की आवाज़ है। लगता है कि इसमें रेल की आवाज़ की अनुगूंज घुली हुई है। फ़िल्म `वस्त्र उद्योग` (टैक्सटाइल एंड गारमेंट [more…]

Estimated read time 1 min read
राजनीति

मंगलेश डबराल : करुणा में डूबी धीमी भरोसेमंद आवाज़

उम्मीद की थरथराती लौ आख़िर बुझ गई। वरिष्ठ कवि-गद्यकार और पत्रकार मंगलेश डबराल नहीं रहे। उन्होंने बुधवार देर शाम 7 बजकर 10 मिनट पर ऑल [more…]

Estimated read time 2 min read
राजनीति

‘दिल्ली कूच’ के लिए किसानों ने बैरियर तोड़ा

भारतीय किसान यूनियन के नेता गुरनाम सिंह चढूनी ग्रुप के किसानों ने नेशनल हाइवे नम्बर-1 दिल्ली-चंडीगढ़-अंबाला रोड पर बैरिकेड तोड़ दिए हैं। इन किसानों के [more…]

Estimated read time 1 min read
राजनीति

हरियाणा: किसान आंदोलन से घबराई सरकार, दिल्ली मार्च को नाकाम करने के लिए जगह-जगह गिरफ्तारियां

चंडीगढ़/रोहतक। किसानों के 26-27 नवंबर के प्रस्तावित दिल्ली मार्च को नाकाम करने के लिए हरियाणा में किसान-मज़दूर नेताओं की ताबड़तोड़ गिरफ़्तारियां जारी हैं। किसान और [more…]

Estimated read time 3 min read
संस्कृति-समाज

हिंद-पाक दोस्ती की असल अंबेसडर थीं फ़हमीदा रियाज़

फ़हमीदा रियाज़ को 1999 के आसपास मुज़फ़्फ़रनगर में हुए एक मुशायरे में सुनने का मौका मिला था। इस इंडो-पाक मुशायरे को लेकर उग्र हिंदुत्ववादी तत्वों [more…]

Estimated read time 1 min read
ज़रूरी ख़बर

फेसबुक का हिटलर प्रेम!

जुकरबर्ग के फ़ासिज़्म से प्रेम का राज़ क्या है? हिटलर के प्रतिरोध की ऐतिहासिक तस्वीर से फेसबुक को दिक्कत क्या है? फेसबुक ने हिन्दी के [more…]