Sunday, October 24, 2021

Add News

Rajkumar

स्मृति शेष:लेखक और पत्रकार राजकुमार केसवानी, जिनकी तमाम तहरीर में हिंदोस्तानी तहज़ीब झलकती थी

राजकुमार केसवानी से मेरा पहला तआरुफ़ उनके वीकली कॉलम ‘आपस की बात’ के मार्फ़त हुआ, जो मध्य प्रदेश के एक रोज़नामा अखबार में साल 2007 से रेगुलर आता था। इस कॉलम में उनके हिंदी फिल्मों का काबिल-ए-तारीफ़ इल्म, हिंदी-उर्दू...
- Advertisement -spot_img

Latest News

कोविड काल के दौरान बच्चों में सीखने की प्रवृत्ति का हुआ बड़े स्तर पर ह्रास

कोविड काल में बच्चों में सीखने की प्रवृत्ति का काफी बड़ा नुकसान हुआ है। इसका खुलासा ज्ञान विज्ञान समिति...
- Advertisement -spot_img