Monday, April 15, 2024

Seema Azad's house

न्यूरेमबर्ग को न जानने वाले NIA के एक सदस्य ने मनीष से कहा- हथियार से ज्यादा आपकी कलम है खतरनाक

प्रयागराज। 5 सितम्बर 2023 की सुबह ठीक 5.30 बजे इलाहाबाद में मेरे घर की ओर जाने वाली गली में दंगों में इस्तेमाल होने वाला पुलिस का ‘वज्रयान’ खड़ा था। हम और अमिता ‘मार्निंग वाक’ के लिए निकलते हुए यही बात...

Latest News

तमाम प्रतिकूलताओं के बावजूद जनविवेक से स्थिति में बदलाव होगा

भारत में लोकतंत्र के भविष्य को लेकर कुछ गहरी आशंकाएं उभर रही हैं। इतिहास की गहरी घाटियों से कुछ...