Tuesday, January 18, 2022

Add News

गिरिजा पाठक

सत्ता के तलवे चाट रहे पत्रकार अपनी ही बिरादरी के खात्मे पर हैं उतारू

आज असहमति के किसी भी रूप में आप सत्ता के खिलाफ खड़े हैं तो आप ही नहीं आप का परिवार, सहयोगी, शुभचिंतक हर किसी को उसमें शामिल मान लिया जाएगा। जनविरोधी नीतियों से किसी भी तरह की असहमति या...

ऋषिगंगा आपदा: लूट पर टिके तथाकथित विकास की अनिवार्य परिणति

उत्तराखंड में किसी भी आपदा के समय कुछ दिनों तक वहां पर हो रहे तथाकथित विकास के मॉडल पर  बात होने लगती है। ऋषिगंगा में ग्लेशियर टूटने और उसके परिणामस्वरूप आई बाढ़ से हुई जान-माल की तबाही के चलते...

About Me

2 POSTS
0 COMMENTS

Latest News

पुस्तक समीक्षा: सर सैयद को समझने की नई दृष्टि देती है ‘सर सैयद अहमद खान: रीजन, रिलीजन एंड नेशन’

19वीं सदी के सुधारकों में, सर सैयद अहमद खान (1817-1898) कई कारणों से असाधारण हैं। फिर भी, अब तक,...