Estimated read time 1 min read
बीच बहस

त्वरित टिप्पणीः ट्रंप का भारत आगमन और मौजपुर, दिल्ली में सीएए विरोध प्रदर्शन के खिलाफ सीएए समर्थकों के उग्र प्रदर्शन के मायने

दिल्ली में हिंसा हो गई है। एक पुलिसकर्मी के इस हिंसा की चपेट में मौत होने की खबर अभी अभी एनडीटीवी के सूत्रों से आ [more…]

Estimated read time 1 min read
ज़रूरी ख़बर

बंग्लोर एयरपोर्ट पर ‘कामरा कांड’: तीन लड़कियों ने दिखाए कर्नाटक के एक संघी ट्रोल को दिन में 13 तारे

हमारी पीढ़ी तो क्या ख़ाक बदलेगी। लेकिन लगता है नई पीढ़ी में इस बीच काफी बदलाव आया है। हाल के वर्षों में जब लगा कि [more…]

Estimated read time 1 min read
बीच बहस

गहन अंधकार में एक-दूसरे का हाथ थामे उजास की ओर कदम बढ़ाने का समय

आज आपसे दिल की बात बताता हूं।हर इंसान जवानी में क्रांतिकारी होता है। फिर हर किसी की जिंदगी में जो आगे परिस्थितियां मिलती हैं, उसके [more…]

Estimated read time 1 min read
बीच बहस

देश में कहीं वसंत का वज्रनाद न फूट पड़े

जब शाहीन बाग़ में पहले दिन धरना शुरू हुआ था, तभी मुझे अंदर से अहसास हो गया था कि हो न हो यह एक मिसाल [more…]

Estimated read time 1 min read
ज़रूरी ख़बर

जनता तो जिंदा रह लेगी, सरकार का क्या होगा?

GST कल से 18% की जगह 40% होने की संभावना है। आप सोच रहे हो सरकार प्याज के दाम 150 रूपये से 40 रूपये किलो [more…]

Estimated read time 1 min read
बीच बहस

एनकाउंटर का यह जश्न पूरे समाज पर पड़ सकता है भारी

हैदराबाद की घटना के बाद पुलिस एनकाउंटर से अगर किसी को सबसे अधिक ख़ुशी मिली है तो वह उस लड़की के मां-बाप को नहीं बल्कि [more…]

Estimated read time 1 min read
बीच बहस

माफ करिये निर्मला जी! हमारा राष्ट्रहित आपके राष्ट्रहित से मेल नहीं खाता

मेरा का नेटवर्क आज काम नहीं कर रहा है. किसी तरह 2 जी पर अब काम कर रहा है। इसका मतलब क्या हो सकता है? [more…]

Estimated read time 1 min read
बीच बहस

तमाम बहकावों के बीच, बेचैन होता समाज

यह दौर बेहद पीड़ादायी है, सभी के लिए। उनके लिए भी जो समझ रहे हैं कि वे राज कर रहे हैं, और जो सताए जा [more…]

Estimated read time 1 min read
ज़रूरी ख़बर

संकटग्रस्त पूंजीवाद फटने को तैयार

संकटग्रस्त पूंजीवाद अब दुनिया के कुछ हिस्सों में फटने को तैयार है, और भारत जैसे देश में खुद को तैयार कर रहा है, जहां पूरी [more…]

Estimated read time 1 min read
बीच बहस

दिल्ली में महिलाओं के लिए मुफ्त बस सेवा: क्या विज्ञापनों से बेहतर नहीं है ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ का यह तरीका?

बस में यात्रियों के चढ़ते ही बस कंडक्टर ने सबसे पहले गुलाबी टिकट निकाल कर आवाज दी, “अपने अपने पास लेते हुए जाना।” इसका कारण [more…]