Thursday, February 2, 2023

डीयू कैंपस के पास कैंपेन कर रहे छात्र-छात्राओं पर परिषद के गुंडों का जानलेवा हमला

Follow us:
Janchowk
Janchowkhttps://janchowk.com/
Janchowk Official Journalists in Delhi

ज़रूर पढ़े

नई दिल्ली। जीएन साईबाबा की रिहाई के लिए अभियान चला रहे छात्र और छात्राओं पर दिल्ली विश्वविद्यालय के पास विद्यार्थी परिषद के गुंडों ने हमला किया है। जिसमें कई युवा और युवतियों को गंभीर चोटें आयी हैं। हालांकि घायल छात्रों की ओर से थाने में शिकायत दर्ज करा दी गयी है। बावजूद इसके परिषद के गुंडे घायलों को अस्पताल में भी घेरे हुए हैं।

भगत सिंह छात्र एकता मंच की ओर से जारी विज्ञप्ति में बताया गया है कि CASR (Campaign against state repression) की तरफ से जीएन साईबाबा और अन्य 5 लोगों की रिहाई को लेकर होने वाले प्रोग्राम के लिए पिछले कई दिनों से कैंपेन चल रहा है । आपको बता दें कि CASR एक फ्रंट हैं जिसमें कई सारे संगठन शामिल हैं।

police du2

विज्ञप्ति में बताया गया है कि आज दिल्ली विश्वविद्यालय के पास पटेल चेस्ट पर विभिन्न संगठनों के कार्यकर्ता कैंपेन कर रहे थे। मॉरिस नगर पुलिस थाने के पास कुछ कार्यकर्ता चाय की दुकान पर बैठ कर गीत गा रहे थे तभी ABVP के गुंडे वहां इकट्ठा होना शुरू हो गए। उनकी संख्या 50 से ज्यादा थी।

abvp attack

भगत सिंह छात्र एकता मंच के नेताओं का कहना है कि उनके हाथों में मोटे डंडे थे, जिनमें 8-10 महिलाएं भी शामिल थीं। उनका कहना है कि वो ABVP से जुड़े हैं लेकिन उन्होंने मुंह पर आम आदमी पार्टी के झंडे लगा रखे थे। उन्होंने पहले कैंपेन में शामिल लोगों पर अंडे, टमाटर और यहां तक कि गोबर फेंके और फिर उसके बाद लाठियों से हमला कर दिया। 

छात्र एकता मंच के नेताओं का कहना है कि उन गुंडों ने ईंट मारकर एक महिला कार्यकर्ता बादल का सिर फोड़ दिया, एक दूसरे कार्यकर्ता एहतेमाम , जिनका LAA (Lawyers Against Atrocities) से संबंध है, के कान में डंडा मारा जिससे उनका कान कट गया। इसके अलावा अरहान के गाल पर डंडा मारा है, शिव कुमार के पेट में चोट लगी है और एक अन्य कार्यकर्ता देव के हाथ में चोट लगी है। बाकी अन्य कई लोगों को भी अंदरूनी चोटें आई हैं। उनका कहना था संख्या में कम होने के बावजूद उन्होंने जमकर मुकाबला किया। 

police du

दिलचस्प बात यह है कि यह पूरी घटना मौरिस नगर पुलिस थाने के ठीक सामने घटित हुई। लेकिन पुलिस ने न कोई हस्तक्षेप किया और न ही किसी को बचाने की कोशिश की। इससे साफ दिख रहा था कि गुंडों को प्रशासन का खुला संरक्षण मिला हुआ है।

खबर लिखे जाने तक घायल कार्यकर्ताओं को हिंदूराव अस्पताल में भर्ती करा दिया गया था। लेकिन गुंडों ने वहां भी उनका पीछा नहीं छोड़ा है। संगठन के कार्यकर्ताओं ने बताया कि ABVP के गुंडे वहां भी इकट्ठे हो रहे हैं और पुलिस के सामने धमकी दे रहे हैं कि सबको देख लिया जाएगा। उनका कहना है कि अस्पताल के बाहर गुंडों की संख्या लगातार बढ़ रही है।

(प्रेस विज्ञप्ति पर आधारित।)

तत्काल समाचारों के लिए, हमारा जनचौक ऐप इंस्टॉल करें

Latest News

अडानी इंटरप्राइजेज ने अपना एफपीओ वापस लिया, कंपनी लौटाएगी निवेशकर्ताओं का पैसा

नई दिल्ली। अडानी इंटरप्राइजेज ने अपना एफपीओ वापस ले लिया है। इसके साथ ही 20 हजार करोड़ के इस...
जनचौक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें

Janchowk Android App

More Articles Like This