गुजरात में बीजेपी की चौतरफा घेरेबंदी, राहुल का असरदार दौरा

1 min read
gujrat-bjp-rahul-modi-social-media-sabha-aap

gujrat-bjp-rahul-modi-social-media-sabha-aap

अहमदाबाद। पेला राममंदिर बनाववा नी वातो करशे तमे सारी हॉस्पिटल नी वातो पर अडीखम रहेजो (वह राम मंदिर की बात करेंगे तुम अच्छे हॉस्पिटल की बात पर अड़े रहना), पेला गौशाणा नी वात करशे तमे बाणको माटे सारी शाणाओ माटे अडीखम रहेजो (वह गौशाला की बात करेंगे तुम बच्चों के लिए अच्छी पाठशाला पर अड़े रहना), पेला गौमूत्र नी वातो करशे तमे पेट्रोल ना भाव नी वातो पर अडीखम रहेजो (वह गौमूत्र की बात करेंगे तुम पेट्रोल के बढ़ते दाम की बात पर अड़े रहना), पेला काश्मीर नी वातो करशे तमे वधती मोघवारी पर अडीखम रहेजो (वह कश्मीर की बात करेंगे तुम बढ़ती महंगाई पर अड़े रहना), पेला मदरसा नी वात करशे तमे खेडूतो नी आत्म हत्या नी वात पर अडीखम रहेजो (वह मदरसे की बात करेंगे तुम किसानों की आत्महत्या की बात पर अड़े रहना), पेला हिन्दू – मुसलमान नी वातो माँ उल्झावी राखवा नों प्रयत्न करशे तमे भारती बनीने अडीखम रहेजो (वह हिन्दू-मुस्लिम की बातों में उलझाने की बात करेंगे तुम भारतीय बनकर डटे रहना)।

सामाजिक आंदोलनों से बीजेपी परेशान

गुजरात विधान सभा चुनाव की घोषणा कभी भी हो सकती है इसके संकेत भी मिलने शुरू हो गए हैं। संभवतः आम आदमी पार्टी 3 अक्टूबर को अपने उम्मीदवारों की पहली सूची ज़ाहिर कर सकती है गुजरात बीजेपी का गढ़ और हिंदुत्व की प्रयोगशाला है परन्तु राज्य में छिड़े सामाजिक आन्दोलनों ने बीजेपी को परेशानियों में डाल रखा है। कांग्रेस हो या आम आदमी पार्टी दोनों जानते हैं कि सांप्रदायिक ध्रुवीकरण हुआ तो बीजेपी सत्ता बचाए रख सकती है। इन पार्टियों को अमित शाह के आलिया जमालिया भाषण से साफ़ हो गया है कि वह ध्रुवीकरण कराने की कोशिश करेगी। परन्तु आम आदमी पार्टी ने अहमदाबाद स्थित वार रूम से बीजेपी पर हमला नहीं बोला बल्कि उसे चेता रही है कि भाजपा के लोग गुजरात की जनता को एक बार फिर हिन्दू मुस्लिम के नाम पर मूर्ख बना सकते हैं। आम आदमी पार्टी का उपरोक्त स्लोगन तेज़ी से वायरल हो रहा है और उसकी चारो तरफ सराहना भी हो रही है।

आप ने भी शुरू किया हमला

आप के वार रूम ने जनता पहले भारतीय बने की सोशल मीडिया के द्वारा कैंपेन चलाई। दूसरे फेज में भाजपेतोबूमपड़ाई कैंपेन से बढ़ रही महंगाई के खिलाफ हल्ला बोला। उदाहरण के तौर पर ‘मोंघी दाल मोंघु टेल बढ़ो भाजप नों खेल भाजपेतोबूमपड़ाई आई एम् विथ आप’। आम आदमी पार्टी की कैंपेन सोशल मीडिया पर ट्रेंड भी कर रही है क्योंकि पाटीदार, दलित और मुस्लिम नौजवानों को आप के नारे पसंद आ रहे हैं।

2014 लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद कांग्रेस को भी सोशल मीडिया का महत्त्व पता चल गया। गुजरात कांग्रेस का आईटी सेल भी बीजेपी पर भारी पड़ रहा है। कांग्रेस का विकास गांडो थाय छे (विकास पगला रहा है) खूब चला उसके बाद ‘मारा हाड़ा छेत्री गया’ (साला छेतर गया) जो सीधे मोदी को निशाने पर लेता है।

निशाने पर हैं नरेंद्र मोदी

गुजरात का मुख्यमंत्री रहते हुए नरेंद्र मोदी सीधा वार सोनिया गांधी और राहुल गांधी पर करते थे। अब गुजरात चुनाव प्रचार में राहुल गांधी से लेकर विधान सभा का कार्यकर्ता सभी सीधे पधानमंत्री मोदी पर वार कर रहे हैं। जवाब प्रधान मंत्री और अमित शाह से मांगा जा रहा है। विधानसभा चुनाव में राज्य के मुख्यमंत्री और बीजेपी प्रदेश प्रमुख से न तो कांग्रेस न ही आम आदमी पार्टी जवाब तलब कर रही है। राहुल गांधी तीन दिन के दौरे पर गुजरात आये हैं। वो द्वार्काधीश मंदिर में पूजा अर्चना करने के बाद सौराष्ट्र के इलाकों पार्टी का प्रचार कर रहे हैं। राहुल गांधी ने रूपानी सरकार को दिल्ली के रिमोट से चलने वाली सरकार बताया। राहुल गांधी ने कहा कि गुजरात में ऐसी सरकार होना चाहिए जो गुजरात के लोगों द्वारा चलने वाली सरकार हो। राहुल गांधी जीएसटी, नोटबंदी, मंदी, बेरोज़गारी, बिगड़ती अर्थव्यवस्था के साथ-साथ जय सरदार, जय पाटीदार के नारे भी लगा रहे हैं जो सरदार पटेल को 2014 में बीजेपी ने हाईजैक कर लिया था। लेकिन पाटीदार आन्दोलन के चलते कहीं न कहीं पटेल को राहुल गांधी वापस ला रहे हैं।

हार्दिक पटेल ने किया राहुल का स्वागत

हार्दिक पटेल द्वारा राहुल गांधी का ट्वीटर के माध्यम से स्वागत के बाद बीजेपी बहुत असहज महसूस कर रही थी। आनन-फानन में सरकार ने पाटीदारों को न्योता भेज मांगों पर पुनर्विचार करने का आश्वासन दे दिया। लेकिन सरकार द्वारा कोई ठोस फैसला नहीं लिया जा सका जिसके चलते पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने आन्दोलन को जारी रखने का एलान किया है। उप मुख्यमंत्री नितिन पटेल ने आन्दोलनकारियों पर कांग्रेस के इशारे पर काम करने का आरोप लगाया है। राहुल गांधी का तीन दिवसीय दौरा विरमगाम की सभा के बाद समाप्त हो जायेगा। चुनाव तक गांधी गुजरात आते रहेंगे।

गांधी जयंती से आम आदमी पार्टी भी चुनाव प्रचार की शुरुआत कर रही है। 2 अक्टूबर को आम आदमी पार्टी अहमदाबाद के नाना चिलोड़ा से नरोड़ा पाटिया और अमराईवाड़ी से आस्टोडीया दरवाज़े और दानीलिमडा होते हुए साबरमती नदी किनारे 35 किलोमीटर की दूरी तक रैली निकालेगी। गोपाल राय रैली में मुख्य अतिथि के तौर पर शामिल होंगे। संभवतः 3 अक्टूबर को गोपाल राय जो गुजरात चुनाव के प्रभारी हैं उम्मीदवारों की पहली सूची जारी करेंगे। सूत्रों के अनुसार आम आदमी 60 से 65 सीटों पर चुनाव लड़ सकती है। पहली सूची में अहमदाबाद की पांच सीट सहित पूरे राज्य से 20 से 22 उम्मीदवारों की सूची जारी हो सकती है।

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर Janchowk Android App

Leave a Reply