Monday, November 29, 2021

Add News

article370

आंबेडकर को लेकर संघ फैला रहा है झूठ, अनुच्छेद 370 के खिलाफ नहीं थे बाबा साहेब

इस समय मीडिया में यह बात जोर शोर से चल रही है कि डॉ. बीआर आंबेडकर भी जम्मू-कश्मीर राज्य से सम्बंधित अनुच्छेद 370 के संविधान में डालने के खिलाफ थे। इसके समर्थन में डॉ. आंबेडकर का एक कथन जो...

वामपंथी दलों ने लिया अनुच्छेद 370 के खात्मे के खिलाफ लड़ाई जारी रखने का संकल्प

नई दिल्ली। वामपंथी दलों ने कश्मीर में अनुच्छेद 370 खत्म किए जाने के विरोध में आज अपने राष्ट्रव्यापी विरोध कार्यक्रम के तहत दिल्ली में भी प्रदर्शन किया। इस मौके पर दलों ने एक मार्च निकाला जो दिल्ली के मंडी हाउस से...

मोदी ने अनुच्छेद 370 खत्म करने के जरिए बनाया कॉरपोरेट के लिए घाटी में लूट का रास्ता

केंद्र की मोदी सरकार ने 5 अगस्त 2019 को जम्मू कश्मीर राज्य से अनुच्छेद 370 के खंड 2,3, व 35 ए को समाप्त कर, राज्य को दो टुकड़ों में बाँट कर उन्हें केंद्र शाषित प्रदेश बना दिया है। पूरी कश्मीर घाटी को सेना,...

आर्थिक संकट को छुपाने के लिए मोदी सरकार ने थामा है धारा 370 का दामन

जम्मू और कश्मीर का भारत में विलय 15 अगस्त 1947 को नहीं हुआ था, औपनिवेशिक शासनों ने सत्ता के हस्तांकरण में देशी रजवाड़ों को छूट दी थी कि वे चाहे हिंदुस्तान के साथ रहें चाहे पाकिस्तान के और चाहे स्वतंत्र। अंततः नेहरू...

लद्दाख और घाटी में भी अब पहुंच जाएगा बाजारवादी राष्ट्रवाद

अब जम्मू-कश्मीर का संविधान की धारा 370 के तहत विशेष राज्य का दर्जा समाप्त हो गया है। साथ ही धारा 370 से जुड़ा आर्टिकल 35ए भी निरस्त हो गया है। फैसले के मुताबिक जम्मू-कश्मीर पूर्ण राज्य भी नहीं रहेगा। पूरा क्षेत्र दो...

पुण्य प्रसून क्यों किसी ‘उद्धारकर्ता’ के झूठे अहंकार में फंस रहे हैं?

कल रात ही धारा 370 को हटाये जाने के बारे में पुण्य प्रसून वाजपेयी की लंबी, लगभग पचास मिनट की वार्ता को सुना । अपनी इस वार्ता में उन्होंने घुमा-फिरा कर, कश्मीर के भारत में विलय से जुड़े इतिहास और आरएसएस...

धारा 370 खत्म करने के फैसले के खिलाफ वामदलों ने किया सड़कों पर प्रदर्शन

नई दिल्ली। धारा 370 के खात्मे के खिलाफ वामपंथी दलों ने सोमवार को सड़कों पर प्रदर्शन किया। दिल्ली से लेकर पटना तक सरकार के इस फैसले के खिलाफ आवाज गूंजी। दिल्ली में सीपीआई, सीपीएम और सीपीआई(एमएल) के नेताओं के साथ ही तमाम...

जम्मू-कश्मीर पर फैसले के मायने

जम्मू-कश्मीर को दो टुकड़ों में बांट दिया गया है। जम्मू-कश्मीर व लद्दाख के रूप में दो केंद्र शासित प्रदेश होंगे। जम्मू-कश्मीर में विधानसभा होगी और दिल्ली की तरह उप राज्यपाल संवैधानिक प्रमुख होंगे। जब दुबारा प्रचंड बहुमत से मोदी सरकार बनी तो लोगों को...

कश्मीर और इतिहास के साथ क्यों धोखाधड़ी है धारा 370 का खात्मा

15-16 मई 1949 को सरदार वल्लभ भाई पटेल के घर पर कश्मीर के भविष्य को लेकर एक अहम बैठक हुई थी। बैठक में जवाहर लाल नेहरू और शेख अब्दुल्ला भी मौजूद थे। बैठक का एजेंडा ‘राज्य में नए संविधान के गठन’...
- Advertisement -spot_img

Latest News

भारत-माता का संदर्भ और नागरिक, देश तथा समाज का प्रसंग

'भारत माता की जय' भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन के दौरान सबसे अधिक लगाया जाने वाला नारा था। भारत माता का...
- Advertisement -spot_img