Friday, October 22, 2021

Add News

cycle

बेशर्म सत्ता और लाचारी का इवेंट!

बेशर्म होना आसान नहीं होता। उसके लिये बड़ी साधना की ज़रूरत होती है। इसके लिये समय रहते सिर्फ़ आँखों की शर्म ही नहीं मारनी पड़ती क्योंकि ये तो बड़ा नेता, सेठ, अफसर, भक्त आदि होने की मूलभूत शर्त है...

ज़िंदगी के साथ जब मौत चलने लगे

बस्तर। बढ़ते लॉकडाउन ने एक बार फिर दिहाड़ी मजदूरों की समस्या बढ़ा दी है। तेलंगाना में भूखे-प्यासे फंसे मजदूर इंतजार कर रहे थे कि कब यह लॉक डाउन खत्म हो और कब वे घर जाएं। मजदूरों ने सरकारों से गुहार...

दिल्ली से साइकिल से अपने घर बिहार लौट रहे एक मजदूर की रास्ते में मौत

कल जब पूरा विश्व वैश्विक महामारी कोरोना के कारण सरकारों द्वारा किये गये लाॅकडाउन में अपने-अपने तरीके से अंतर्राष्ट्रीय मजदूर दिवस मना रहा था। हमारे देश में तेलंगाना से एक ट्रेन तड़के सुबह प्रवासी मजदूरों को लेकर झारखंड के...
- Advertisement -spot_img

Latest News

मालवा में पतझड़ की बहार और उसके ध्वजाधारी

मध्यप्रदेश में इन दिनों पतझड़ के बहार हैं और प्रदेश का वह अंचल जिसे मालवा कहा जाता है इसका...
- Advertisement -spot_img