Friday, June 2, 2023

karo ya maro

‘अंग्रेज़ों! भारत छोड़ो’ आंदोलन और गांधी जी का यादगार भाषण

1942 के पहले जब 1938–39 में इस बात की संभावना बन गयी थी कि द्वितीय विश्वयुद्ध होगा ही, तब नेताजी सुभाष का विचार था कि युद्ध के समय पर ही अंग्रेजों के खिलाफ आज़ादी की एक निर्णायक जंग छेड़ी...

Latest News

पैसे के लिए अस्पताल कर रहे गर्भाशय निकालने का धंधा: अधिक जागरूक बनें महिलाएं!

सितम्बर 2022 में बिहार से एक दर्दनाक मामला सामने आया। बच्चेदानी निकालने के बहाने सुनीता देवी (दलित) के दोनों...