Thursday, February 9, 2023

विजय शंकर सिंह

अडानी समूह पर साल 2014 के बाद से हो रही अतिशय राजकृपा की जांच होनी चाहिए

2014 में जब नरेंद्र मोदी सरकार में आए तो सबसे पहला बिल, भूमि अधिग्रहण बिल लाया गया। विकास के नाम पर लाया गया बिल, पूरी तरह से पूंजीपतियों के हित में था। स्वर्ग-नर्क, पाप-पुण्य आदि के नाम पर जैसे...

अडानी पर लग रहे घोटालों के आरोपों पर सरकार की चुप्पी निंदनीय

हिंडनबर्ग रिसर्च की रिपोर्ट ने अडानी के आर्थिक घोटालों का पिटारा खोल दिया है। सरकार या यूं कहें प्रधानमंत्री के सबसे करीबी देश ही नहीं दुनिया का दूसरे सबसे अमीर शख्स के बारे में यह सोचा भी नहीं गया...

मोदी सरकार ने दिल्ली हाईकोर्ट से कहा- पीएम केयर्स फंड एक धर्मार्थ ट्रस्ट है!

पीएम केयर्स फंड की कानूनी स्थिति पर, दिल्ली हाईकोर्ट में दायर एक याचिका पर सुनवाई चल रही है। उस सुनवाई में प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) ने दिल्ली हाईकोर्ट को सूचित किया है कि पीएम केयर फंड भारत के संविधान के अनुच्छेद...

कॉलेजियम के मीटिंग मिनिट्स को सार्वजनिक करना एक उचित और साहसिक निर्णय

न्यायाधीशों के पास अपने पक्ष में जनमत बनाने के लिए मीडिया के माध्यम से जनता तक जाने की स्वतंत्रता नहीं है, जो विधायिका, कार्यपालिका तथा एक सामान्य नागरिक को आसानी से सुलभ है। ऐसा पहली बार हुआ है कि,...

जोशीमठ त्रासदी-4: चारधाम यात्रा मार्ग पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला भी, इस संकट को बढ़ा सकता है

मिश्र कमेटी रिपोर्ट 1976, जियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया, करेंट साइंस के विशेषज्ञ लेखकों, आईआईटी कानपुर के वैज्ञानिक राजीव सिन्हा सहित अनेक विशेषज्ञों की जोशीमठ के बारे में यह स्पष्ट राय थी कि, निर्माण कम से कम हो, बहुमंजिला निर्माण...

जयंती पर विशेष: स्वामी विवेकानंद और खेतड़ी नरेश अजित सिंह की अनोखी मित्रता

स्वामी विवेकानंद का, विविदिशानंद से विवेकानंद का नामकरण, राजस्थान की एक रियासत, खेतड़ी के राजा अजीत सिंह ने ही किया था। आज विविदिशानंद नाम अल्प ज्ञात है और विवेकानंद, जगत ख्यात। खेतड़ी नरेश महाराजा अजित सिंह, स्वामी विवेकानंद के...

जोशीमठ त्रासदी: यह दैवीय नहीं पगलाए विकास द्वारा आमंत्रित आपदा है

साल, 2010 की 25 मई के करेंट साइंस के वॉल्यूम 98 अंक 10 में जोशीमठ की भौगोलिक और भूगर्भीय स्थित और आज जो आपदा दिख रही है उसके बारे में एक लेख छपा था। जोशीमठ पर विशेषज्ञों की रिपोर्टों...

जोशीमठ त्रासदी: आपराधिक है राजनीतिक सत्ता और नौकरशाही की भूमिका

सरकार और विशेषज्ञों की सलाह में अक्सर टकराव होता रहता है और इसका कारण, दोनों के उद्देश्य और क्रियाकलाप में है। सरकार एक प्रशासनिक निकाय भी है और उसके उद्देश्य, जनता से किए वायदे या लोकलुभावन एजेंडे से प्रभावित...

अनियंत्रित विकास का दुष्परिणाम है जोशीमठ त्रासदी

जोशीमठ के बारे में जो खबरें आ रही हैं, वह न केवल एक पहाड़ी शहर के ज़मींदोज़ होते जाने की, चिंतित करने वाली खबरें हैं, बल्कि चीन की सीमा के नजदीक होने के कारण राष्ट्रीय सुरक्षा से भी जुड़ा...

सेठों के हुक्म पर सरकार खाली करा रही है जमीन, अब तक अतिक्रमण से थी अनजान ?

हल्द्वानी में रेलवे जमीन पर अतिक्रमण हटाने के हाइकोर्ट के आदेश पर सुप्रीम कोर्ट ने रोक लगा दी है और यह कहा है कि पहले सरकार उनके पुनर्वास की व्यवस्था करे। रेलवे की हल्द्वानी ही नहीं देशभर में जहां...

About Me

411 POSTS
0 COMMENTS

Latest News

‘उफ़! टू मच डेमोक्रेसी’: सादा ज़बान में विरोधाभासों से निकलता व्यंग्य

डॉ. द्रोण कुमार शर्मा का व्यंग्य-संग्रह ‘उफ़! टू मच डेमोक्रेसी’ गुलमोहर किताब से प्रकाशित हुआ है। वैसे तो ये व्यंग्य ‘न्यूज़क्लिक’...