Friday, December 9, 2022

Kolkata

पांच साल बेमिसाल: ईन्यूज़रूम ने स्वतंत्र मीडिया के तौर पर बनाई खास पहचान

शाहनवाज़ अख़्तर द्वारा बनाई संस्था ईन्यूज़रूम इंडिया ने बिना किसी राजनीतिक समर्थन, कॉर्पोरेट सहयोग और बड़ी ग्रांट्स के अब तक अपने मीडिया संस्थान को चलाया।  ईन्यूज़रूम इंडिया (eNewsroom India) पूर्वी और मध्य भारत के टियर-2 शहरों को कवर करने वाला...

शाहीन बाग की दूसरी बरसी पर अहमदाबाद में भी हुआ आयोजन

अहमदाबाद। 15-16 दिसंबर 2019 को दिल्ली की जामिया मिल्लिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी में CAA/NRC का विरोध कर रहे छात्रों को दिल्ली पुलिस ने कैंपस में घुस कर पिटाई की थी। दिल्ली और उत्तर प्रदेश में प्रदर्शन कर रहे दर्जनों प्रदर्शनकारियों...

ममता के निशाने पर मोदी के बजाय राहुल

रुख से नकाब उतरता जाए आहिस्ता आहिस्ता। कुछ ऐसा ही सियासत में भी होता है। कभी गोविंदाचार्य ने कहा था कि अटल बिहारी बाजपेई भाजपा के मुखौटा हैं। ममता बनर्जी कभी पूरे देश में भाजपा के खिलाफ एक मोर्चा...

संघर्षों और बलिदानों से भरा पड़ा है हिंदी पत्रकारिता का इतिहास

1826 की 30 मई को कोलकाता की आमड़ातल्ला गली से प्रकाशित अल्पजीवी हिंदी पत्र उदन्त मार्तण्ड ने इतिहास रचा था। यह साप्ताहिक पत्र था। पत्र की भाषा पछाँही हिंदी थी, जिसे पत्र के संपादकों ने “मध्यदेशीय भाषा” कहा था।...

‘आत्मनिर्भर भारत’ वाली लक्ष्मी पीएम से पूछ रही हैं अपने पक्के मकान का ठिकाना!

लक्ष्मी देवी कोलकाता के बहू बाजार के मलांगा लेन में 80 वर्ग फुट के एक कमरे में किराए पर रहती हैं। जब कमरे का रकबा  ही 80 वर्ग फुट हो तो उसमें स्नान घर और शौचालय होने का सवाल...

कोलकाता महानगर में बीजेपी को बिग नो!

भाजपा का एक जमाने से सपना रहा है कि कोलकाता महानगर से भी भाजपा के विधायक चुने जाएं, ताकि कोलकाता के सांस्कृतिक जगत में भी भाजपा का वजूद होने का एहसास हो। अब यह बात दीगर है कि 1952...

फेक तस्वीरों के सहारे मोदी सरकार ने किये कितने विकास

तीन बेटे, दो बहू और एक नाती के साथ लक्ष्मी लक्ष्मी देवी कोलकाता के बहू बाज़ार 71 मलिंगा में एक 6 गुणा 6 के किराये के कमरे में रहती हैं। रहती क्या हैं बस नाम है कि रहती भी हैं।...

ये जरनैली सड़क है साहेब!

ये जरनैली सड़क है साहेब, तारीखी अज्म से मुलविस, इसके इकबाल और जलाल की मीनारें गवाह हैं शहँशाहों, हुकमरानों के नापाक मंसूबों की! ये आवाम की शहादतों में मगनून आज भी ज़िन्दा है! भारत में अलग-अलग दौर में बहुत से संघर्षों की दास्तानें...

केएमसी चुनाव: बीजेपी के लिए उगलना और निगलना दोनों मुश्किल

कोलकाता। कोलकाता नगर निगम यानि केएमसी का चुनाव अब भाजपा के लिए गले की हड्डी बन गया है। आलम यह है कि अब उगलना भी मुश्किल है और निगलना भी। फिलहाल तो भाजपा को राहत की सांस मिली है...

पश्चिम बंगाल: सरकार व्यस्त है गोबर जमा करने में, कला के चितेरे भूखों मर रहे

इस बार सोशल मीडिया पर कोलकाता के शोभा बाजार स्थित कुमारटुली (कुमोरटुली) के मूर्तिकारों के लिए लोगों से अनुदान मांगने का एक वीडियो तैर रहा है। कोरोना संक्रमण के कारण राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन और बंगाल सहित आस-पड़ोस के राज्यों में...
- Advertisement -spot_img

Latest News

मुश्किल में बीजेपी, राहुल बना रहे हैं कांग्रेस का नया रास्ता

इस बार के चुनावों में सभी के लिए कुछ न कुछ था, लेकिन अधिकांश लोगों को उतना ही दिखने...
- Advertisement -spot_img