Monday, October 25, 2021

Add News

nazrul

हिंदू-मुस्लिम सौहार्द के विलक्षण पैरोकार थे काजी नज़रुल इस्लाम

हिंदू-मुस्लिम सौहार्द के विलक्षण पैरोकार और महत आकांक्षी बांग्ला कवि-लेखक काजी नज़रुल इस्लाम आधुनिक बांग्ला काव्य एवं संगीत के इतिहास में निस्संदेह एक युग प्रवर्तक थे। प्रथम महायुद्ध के उपरांत आधुनिक बांग्ला काव्य में रवीन्द्र काव्य को एक मात्र...
- Advertisement -spot_img

Latest News

समीर वानखेड़े के ख़िलाफ़ विजिलेंस जांच शुरू, एनसीबी ने कोर्ट में कहा- गवाह मुकर गया

क्रूज पार्टी ड्रग केस में गवाह प्रभाकर सेल के हलफ़ानामे में वसूली के आरोपों के बाद मुंबई एनसीबी जोनल...
- Advertisement -spot_img