Thursday, October 28, 2021

Add News

Vashistha Narayan Singh

वैज्ञानिक और विशेषज्ञ नहीं बल्कि अफसर, नेता और ठेकेदार पैदा करता है एक लोभी, काहिल और वर्चस्व पसंद समाज

किंवदंती पुरुष गणितज्ञ वशिष्ठ नारायण  सिंह 14 नवंबर को इस दुनिया को अलविदा कह गए। यूं भी उनका पार्थिव  शरीर ही शेष था। चेतना तो आज से 45   साल पहले ही लोप हो गई थी। दरअसल उनका वास्तविक अवसान...
- Advertisement -spot_img

Latest News

पटना: सरपंच बिंदु देवी के खिलाफ पुलिस उत्पीड़न की कार्रवाई को लेकर सामाजिक संगठनों में रोष

पटना। बिहार की प्रमुख सामाजिक कार्यकर्ता व सरपंच बिंदु देवी की गिरफ्तारी का मामला तूल पकड़ता जा रहा है।...
- Advertisement -spot_img