Friday, April 19, 2024

चैतन्य नागर

असहिष्णुता के समय में तथागत की देशना

आज बुद्ध पूर्णिमा है। पूर्णिमा के दिन ही बुद्ध का जन्म हुआ, पूर्णिमा के दिन ही निर्वाण (निब्बान), और पूर्णिमा के ही दिन देहावसान। निब्बान का सरल, सीधा अर्थ उन्होंने बताया था दुःख-ध्वंस या दुःख की समाप्ति। व्यक्तिगत और...

जन्मदिन पर विशेष: मसीहाई भी जिसे रास नहीं आई

जिद्दू कृष्णमूर्ति (1895-1986) दक्षिण भारत के छोटे शहर मदनपल्लै में पैदा हुए। छोटी अवस्था में ही थियोसॉफिकल सोसाइटी की अध्यक्ष और भारतीय स्वतंत्रता संग्राम की बड़ी नेत्री एनी बेसेंट ने कृष्णमूर्ति और उनके भाई नित्यानंद की परवरिश की ज़िम्मेदारी...

‘मोदीचूर’ के इतने लड्डू बनते कैसे हैं?

एक बार फिर से मोदी की अगुआई में भाजपा ने कांग्रेस की बची-खुची ताकत को समाप्त कर दिया और संघीय राजनीति का एक नया अध्याय लिखना शुरू कर दिया। मोदी के नेतृत्व में पिछले आठ साल से भाजपा आशा...

About Me

43 POSTS
0 COMMENTS

Latest News

आरएसएस-भाजपा सरकार ने भारत को बना दिया लेबर चौराहा! 

                          धन-धान्य व उपजाऊ भूमि से भरपूर, अपार...