Sunday, May 29, 2022

चैतन्य नागर

सांस्कृतिक सड़ांध की उपज है अमेरिका का शस्त्र प्रेम 

टेक्सस, अमेरिका के युवाल्डे शहर के रॉब एलिमेंट्री स्कूल में एक 18 वर्षीय बंदूकधारी सेल्वडोर रॉमोस ने जिस तरह गोलियों की बारिश करके वहाँ के प्राइमरी स्कूल में पढ़ने वाले पाँच से ग्यारह साल के 19 मासूम बच्चों को...

असहिष्णुता के समय में तथागत की देशना

आज बुद्ध पूर्णिमा है। पूर्णिमा के दिन ही बुद्ध का जन्म हुआ, पूर्णिमा के दिन ही निर्वाण (निब्बान), और पूर्णिमा के ही दिन देहावसान। निब्बान का सरल, सीधा अर्थ उन्होंने बताया था दुःख-ध्वंस या दुःख की समाप्ति। व्यक्तिगत और...

जन्मदिन पर विशेष: मसीहाई भी जिसे रास नहीं आई

जिद्दू कृष्णमूर्ति (1895-1986) दक्षिण भारत के छोटे शहर मदनपल्लै में पैदा हुए। छोटी अवस्था में ही थियोसॉफिकल सोसाइटी की अध्यक्ष और भारतीय स्वतंत्रता संग्राम की बड़ी नेत्री एनी बेसेंट ने कृष्णमूर्ति और उनके भाई नित्यानंद की परवरिश की ज़िम्मेदारी...

‘मोदीचूर’ के इतने लड्डू बनते कैसे हैं?

एक बार फिर से मोदी की अगुआई में भाजपा ने कांग्रेस की बची-खुची ताकत को समाप्त कर दिया और संघीय राजनीति का एक नया अध्याय लिखना शुरू कर दिया। मोदी के नेतृत्व में पिछले आठ साल से भाजपा आशा...

About Me

4 POSTS
0 COMMENTS

Latest News

दूसरी बरसी पर विशेष: एमपी वीरेंद्र कुमार ने कभी नहीं किया विचारधारा से समझौता

केरल के सबसे बड़े मीडिया समूह मातृभूमि प्रकाशन के प्रबंध निदेशक, लोकप्रिय विधायक, सांसद और केंद्र सरकार में मंत्री...