Sunday, October 17, 2021

Add News

डॉ. सिद्धार्थ

अमेरिका ने कोरोना की दवा का तीन महीने का पूरा स्टॉक खरीदा, किसी अन्य देश को नहीं मिल पाएगी रेमडेस्विर

नई दिल्ली। वैसे तो सारे विशेषज्ञों का कहना है कि कोविड-19 से निपटने का अंतिम उपाय वैक्सीन है, लेकिन वैश्विक स्तर पर ऐसी दवाओं की खोज भी की जा रही थी और अभी भी की जा रही है, जो...

‘राष्ट्रपिता’ गांधी का नस्लवादी चेहरा, संदर्भ-ब्लैक लाइव्स मैटर

(अमेरिका में अफ्रीकी-अमेरिकी जॉर्ज फ्लायड की हत्या के बाद अमेरिका समेत यूरोप और दुनिया के अन्य हिस्सों में नस्लवाद विरोधी आंदोलन उठ खड़ा हुआ। ब्लैक लाइव्स मैटर नाम से चलने वाले इस आंदोलन में नस्लीय भेदभाव और दास प्रथा...

राष्ट्र के नाम संबोधन: दर्शन और उपदेश देकर चले गए प्रधानमंत्री जी

दिल-दिमाग लाख मना करे, लेकिन प्रधानमंत्री का राष्ट्र के नाम संबोधन सुनना ही पड़ता है, आखिर वे देश के मालिक जो ठहरे। कहने को भारत में लोकतंत्र है, संसद, कैबिनेट, नौकरशाही, न्याय पालिका और तमाम तथाकथित स्वायत्त लोकतांत्रिक संस्थाएं...

जयंती पर विशेष: अयोथी थास; अनार्य द्रविड़ गैर-ब्राह्मणवादी राष्ट्र-समाज के प्रणेता

20 मई को अनार्य द्रविड़-गैर ब्राह्मणवादी राष्ट्र-समाज निर्माण के प्रणेता एवं तमिलनाडु (तब मद्रास प्रेसीडेंसी) में दलित-बहुजन आंदोलन की नींव डालने वाले अयोथी थास की 175वीं जयंती वर्ष की शुरुआत हो रही है। 20 मई 1845 को चेन्नई के...

पड़ताल: कैसे सरकारी विज्ञापनों ने बनाया मीडिया को सत्ता का दलाल

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा गत माह विपक्षी नेताओं से कोविड-19 और उससे पैदा हुए आर्थिक संकट का सामना करने के संदर्भ में सुझाव मांगे थे। इस संदर्भ में कांग्रेस की कार्यकारी अध्यक्ष सोनिया गांधी ने सरकारी धन की बचत...

मोदी का आर्थिक पैकेज: जनता के लिए आत्मनिर्भरता और 21वीं सदी का जुमला और मलाई कार्पोरेट के हिस्से!

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना संकट के संदर्भ में एक बार फिर राष्ट्र को करीब 30 मिनट तक संबोधित किया। इस संबोधन में उन्होंने कुछ ठोस बातें और कुछ भावात्मक बातें कीं और बहुत सारे सपने दिखाए। उनके संबोधन...

रंग कितने संग मेरे : घायल अस्मिताओं की संघर्ष कथा

    हर एक कागज          मेरे संघर्ष का चश्मदीद गवाह बनकर         दीवारों पर चिपक गया है         या किताबों में दर्ज हो गया है        ...

जन्मदिन पर विशेष: कार्ल मार्क्स- मानव इतिहास का महानतम क्रांतिकारी दार्शनिक

जिस एक व्यक्तित्व ने मानव इतिहास को सर्वाधिक प्रभावित किया, उस व्यक्तित्व का नाम कार्ल हेनरिख मार्क्स है। वे पहले दार्शनिक थे, जिन्होंने यह व्याख्यायित किया कि मानव इतिहास की गति एवं उसकी विकास यात्रा की जड़ में क्या...

मेहनतकशों के शोषण-उत्पीड़न की वैदिक-सनातन परंपरा

    ब्राह्मणोऽस्य मुखमासीद्वाहू राजन्य: कृत:।     उरू तदस्य यद्वैश्य: पद्‍भयां शूद्रो अजायत॥ (पुरुष सूक्त ऋग्वेद संहिता के दसवें मण्डल का एक प्रमुख सूक्त यानि मंत्र संग्रह (10.90) है, जिसमें एक विराट पुरुष की चर्चा हुई और जिसमें कहा गया...

कोविड बैटलग्राउंड: कोरोनो की चपेट में मानवता, अब तक 2 लाख लोगों की मौत

(दोस्तों, पूरी दुनिया आज कोविड-19 महामारी के महासंकट से जूझ रही है। धरती का शायद ही कोई हिस्सा बचा हो जो इसकी चपेट में न हो। पूरी मानवता संकट में है। हर दिन, हर पल इससे संबंधित घटनाएँ घट...

About Me

67 POSTS
0 COMMENTS

Latest News

700 शहादतें एक हत्या की आड़ में धूमिल नहीं हो सकतीं

11 महीने पुराने किसान आंदोलन जिसको 700 शहादतों द्वारा सींचा गया व लाखों किसानों के खून-पसीने के निवेश को...

Log In

Or with username:

Forgot password?

Forgot password?

Enter your account data and we will send you a link to reset your password.

Your password reset link appears to be invalid or expired.

Log in

Privacy Policy

Add to Collection

No Collections

Here you'll find all collections you've created before.