Mon. Apr 19th, 2021

सुशील मानव

1 min read

पीड़ा की अनुभूति करुणा उपजाकर मनुष्य को मनुष्यतर बनाती है, लेकिन पीड़ा जब अपने एवज में प्रतिहिंसा चाहती है, बदला...

1 min read

पिछली गलती से सबक लेते हुए सीलमपुर जाफरबाद की महिलाओं ने अनिश्चितकालीन धरने की शुरुआत की है। शनिवार को धरने...

1 min read

देश-विदेश हर तरफ सिर्फ़ शाहीन बाग़ की चर्चा है। शाहीन बाग़ के नवप्रसूता, गर्भवती, जवां बच्चियों और बूढ़ी स्त्रियों की...

1 min read

जेएनयू, जामिया और अब खुरेजी, तीनों जगह एक सा पैटर्न। दिल्ली पुलिस लाइट बंद करके लोकतंत्र पर हमला करती है।...

1 min read

जामिया और अलीगढ़ यूनिवर्सिटी में छात्र-छात्राओं पर हुई पुलिसिया बर्बरता के बाद शाहीन बाग़ की एक महिला ने कहा बस...

1 min read

रविवार को पुस्तक मेले का आखिरी दिन था। कुछ साहित्यकार और रंगकर्मियों ने मिलकर पुस्तक मेले के आखिरी दिन एनआरसी-सीएए...

1 min read

जंतर मंतर पर ‘संविधान बचाओ देश बचाओ’ के नारे के साथ सीएए-एनआरसी-एनपीआर के खिलाफ़ महिलाओं ने विरोध प्रदर्शन किया। इस...

1 min read

नेशनल फेडरेशन ऑफ इंडियन वूमेन (NFIW) की जनरल सेक्रेटरी एनी राजा कहती हैं, “सीएए माइनारिटी के खिलाफ़ छेड़ा गया युद्ध...

1 min read

सीएए-एनआरसी के खिलाफ़ हुए विरोध प्रदर्शनों में सबसे ज़्यादा हिंसा और पुलिसिया बर्बरता उत्तर प्रदेश में हुई। विशेषकर मुस्लिम बाहुल्य...

1 min read

शाहीन बाग (नई दिल्ली)। क्रूर और जनविरोधी सत्ता के विरुद्ध शाहीन बाग़ एक मिसाल बन गया है। शाहीन बाग़ की...