दिल्ली में मुस्लिम जनसंहार के नारे लगाने के आरोप में भाजपा नेता समेत 6 गिरफ़्तार

Estimated read time 1 min read

राजधानी दिल्ली स्थित जंतर-मंतर के पास रविवार को एक आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान भड़काऊ नारेबाजी के मामले में दिल्ली पुलिस ने सुप्रीम कोर्ट के वकील और दिल्ली भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के पूर्व प्रवक्ता अश्विनी उपाध्याय समेत छह लोगों को मंगलवार सुबह पूछताछ के बाद हिरासत में ले लिया है।

दिल्ली पुलिस की ओर से मिली जानकारी के अनुसार, सभी छह लोगों अश्विनी उपाध्याय, विनोद शर्मा, दीपक सिंह, विनीत क्रांति, प्रीत सिंह, दीपक को हिरासत में लिया गया है। दिल्ली पुलिस ने सोमवार को इस संबंध में एफआईआर दर्ज़ की थी।

इससे पहले सोमवार को दिल्ली पुलिस ने एक बयान जारी किया है। इसमें कहा गया है कि रविवार की घटना में शामिल अश्विनी उपाध्याय और अन्य को गिरफ्तार किया जाएगा। दिल्ली पुलिस कानून के मुताबिक, मामले की जांच कर रही है और किसी भी तरह की सांप्रदायिक विद्वेष को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। दिल्ली पुलिस के मुताबिक इस आयोजन की इज़ाज़त नहीं थी।

कार्यक्रम के आयोजक पूर्व भाजपा प्रवक्ता व सुप्रीम कोर्ट के वकील अश्विनी उपाध्याय बीती रात कनॉट प्लेस पुलिस थाने पहुंचे। इस दौरान उपाध्याय ने कहा कि वीडियो की जांच होनी चाहिए। उपाध्याय ने बताया था कि उन्होंने खुद दिल्ली पुलिस को शिकायत देकर इस मामले की जांच करने के लिए कहा है। उनको नहीं पता है कि नारेबाजी करने वाले कौन लोग हैं और यह कहां से आए।

मंगलवार को दिल्ली पुलिस अश्विनी उपाध्याय, प्रीत, क्रांति समेत कुल चार लोगों से पूछताछ कर रही है। वहीं क्राइम ब्रांच की टीम दीपक सिंह नाम के शख्स से आज सुबह पूछताछ के लिये बुलाया था। हालांकि पुलिस को अभी पिंकी चौधरी की तलाश है, पिंकी ही नारे लगा रहा था।

बता दें कि भारत छोड़ो आंदोलन की वर्षगांठ पर रविवार 8 अगस्त को दिल्ली के जंतर-मंतर पर आयोजित किए गए ‘भारत जोड़ो आंदोलन’ कार्यक्रम के दौरान केंद्र सरकार से आजादी की 75वीं वर्षगांठ से पहले सभी अंग्रेजी कानूनों खत्म कर नए कानून बनाए जाने की मांग की गई। इस दौरान सैकड़ों की तादाद में उमड़ी भीड़ में शामिल कुछ लोगों द्वारा  मुस्लिम जनसंहार के नारे भी लगाए गए। प्रदर्शनकारियों ने ‘हिन्दुस्तान में रहना होगा, जय श्रीराम कहना होगा’ और ‘जब मुल्ले काटे जाएंगे, राम-राम चिलाएंगे’ जैसे नारे लगाए।

You May Also Like

More From Author

+ There are no comments

Add yours