Subscribe for notification

किसानों ने किया देश भर में रेल की पटरियों को जाम

संयुक्त किसान मोर्चा के ‘रेल रोको ‘आह्वान पर आज देश भर में किसान 12 बजे 4 बजे तक रेल पटरियों पर बैठे हैं। वहीं पटना में किसानों के रेल रोको आंदोलन के आह्वान पर जन अधिकार पार्टी (JAP) के कार्यकर्ताओं ने पटना में रेल रोकी। सचिवालय हाल्ट पर रेलवे ट्रैक जाम करने को लेकर पप्पू यादव की पार्टी JAP के एक दर्जन कार्यकर्ता हिरासत में लिए गए हैं।https://twitter.com/ANI/status/1362282155846426624?s=19
जम्मू-कश्मीर में यूनाइटेड किसान फ्रंट के तत्वावधान में जम्मू के चन्नी हिमात क्षेत्र में रेलवे ट्रैक पर किसान प्रदर्शन कर रहे हैं। वहीं पंजाब में किसान मजदूर संघर्ष कमेटी ने रेल रोको आंदोलन के तहत अमृतसर में रेलवे ट्रैक पर बैठकर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। पंजाब के फतेहगढ़ साहिब में किसान संगठनों ने रेल रोकी है। वहीं संयुक्त किसान मोर्चा का रेल रोको अभियान हरियाणा में 80 स्थानों और पंजाब के 15 जिलों में 21 स्थानों पर शुरू हो गया है। नरवाना व बरसोला में रेलवे ट्रैक पर किसान बैठ गए हैं। फतेहाबाद के टोहाना में ट्रैक जाम कर दिया गया हैै। पंजाब के पठानकोट में चक्की बैंक रेलवे स्टेशन पर ट्रैक जाम कर दिया गया है।
https://twitter.com/ANI/status/1362297475105574914?s=19
संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर गौतमबुद्धनगर में किसान दनकौर रेलवे स्टेशन पर रेल रोकने पहुंचे हैंं। सभी किसानों से सुबह 11 बजे दनकौर रेलवे स्टेशन पर पहुंच कर रेल रोकने के कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए निकले थे। भारतीय किसान यूनियन के जिलाध्यक्ष अनित कसाना ने बताया है कि जब तक केंद्र सरकार तीनों कृषि कानूनों को वापस नही लेगी तब तक देश भर में आंदोलन चलता रहेगा।
किसान मजदूर संघर्ष समिति के पंजाब प्रदेश अध्यक्ष सतनाम सिंह पन्नू, महासचिव स्वर्ण सिंह पंधेर, जसबीर सिंह पिद्दी, गुरलाल सिंह पंडोरी रण सिंह ने कहा कि रेल रोको आंदोलन के तहत पंजाब के 11 जिलों में 32 स्थानों पर किसान ट्रेन के पटरी पर बैठे हैं।
दिल्ली-जयपुर हाइवे स्थित रेवाड़ी सीमा के साथ लगते जयसिंहपुर खेड़ा बॉर्डर पर बैठे किसानों ने फैसला किया है कि वे राजस्थान व हरियाणा सीमा स्थित अजरका रेलवे स्टेशन पर पहुंचे हैं। हरियाणा-राजस्थान के किसान दिल्ली-जयपुर रेलमार्ग को जाम कर दिया गया हैै। इस दौरान कई ट्रेनें प्रभावित हो रही हैं।
हरियाणा में किसान संगठन 4 घंटे के लिए ट्रेनों को रोक रहे हैंं। इस दौरान लंबी दूरी की 19 से ज्यादा ट्रेनें प्रभावित होंगी। इनमें दिल्ली-अंबाला लाइन पर 8 ट्रेनों को अलग-अलग स्टेशनों पर जबक रोहतक और बहादुरगढ़ से होकर गुजरने वाली 4-4 ट्रेनें प्रभावित हुई हैं। हिसार, रेवाड़ी और सिरसा से गुजरने वाली , इन जिलों में भी किसान ट्रैक पर धरना दें रहे हैं। टोल प्लाजा धरना दे रहे किसान संगठनों ने बताया है कि वे सभी स्टेशनों के पास यार्ड में ट्रैक पर प्रदर्शन कर रहे हैं। विरोध पूरी तरह से शांतिपूर्वक हो रहा है। असमाजिक तत्वों पर नजर रखने के लिए किसानों  द्वारा वॉलंटियर की ड्यूटी भी लगाई जा रही है।
https://twitter.com/AHindinews/status/1362294635188523008?s=19https://twitter.com/AHindinews/status/1362279625334792194?s=19

कई जगह एलर्ट
किसान रेल रोको आंदोलन के चलते देशभर के रेलवे स्टेशनों और कुछ इलाकों में रेल पटरियों पर सुरक्षा बढ़ा दी है। रेलवे ने रेलवे संरक्षा विशेष बल की 20 अतिरिक्त कंपनियों को सुरक्षा में तैनात किया है। किसानों के रेल रोको अभियान को देखते हुए पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, राजस्थान, बिहार, छत्तीसगढ़ और पश्चिम बंगाल में सुरक्षा के खास इंतजाम किए गए हैं।
दिल्ली से लगे उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद, हापुड़ जंक्शन, गढ़मुक्तेश्वर, धौलाना और पिलखुवा रेलवे स्टेशनों की सुरक्षा कड़ी कर दी गई हैै। इन स्टेशनों के लिए अलग से मजिस्ट्रेट भी तैनात किए गए हैं। मुरादाबाद में सहारनपुर की ओर जाने वाली ट्रेनों को रोके जाने की संभावना है। यहां सुरक्षा के लिए आरपीएफ (RPF) की अतिरिक्त तैनाती भी की गई है। गाजियाबाद जिला प्रशासन व पुलिस ने पूरी तैयारी कर रखी है यहां रेलवे क्रॉसिंग और एनएच-24 के नजदीक रेलवे लाइनों की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। सुबह 8 बजे से जिले में चिह्नित किए गए स्थानों पर आरपीएफ, जीआरपी और पुलिस बल की तैनाती हैै।  बैठक में किसानों के धरनास्थल के नजदीक पड़ने वाली रेलवे लाइन, क्रॉसिंग और ऐसे स्थानों को चिह्नित किया गया जो मुख्य मार्गों के नजदीक हैंं। दिल्ली के नांगलोई रेलवे स्टेशन पर किसानों के चार घंटे लंबे देशव्यापी ‘रेल रोको’ आंदोलन के मद्देनजर भारी संख्या में दिल्ली पुलिस के जवान तैनात हैं। https://twitter.com/ANI/status/1362301860384710660?s=19
हरियाणा के पलवल रेलवे स्‍टेशन पर किसानों के ‘रेल रोको’ अभियान के मद्देनजर भारी पुलिस फोर्स तैनात की गई हैै।
किसानों के रेल रोको अभियान के मद्देनजर टिकरी बॉर्डर, पंडित श्रीराम शर्मा, बहादुरगढ़ सिटी और ब्रिगेडियर होशियार सिंह मेट्रो स्टेशन की एंट्री और एग्जिट बंद किए गए।
किसानों ने रखा ख्याल
भारतीय किसान यूनियन ने आंदोलनकारी किसानों से अपील किया है कि रेल रोको आंदोलन में किसी तरह की कोई हिंसा या यात्रियों को कोई परेशानी नहीं आने दी जाएगी। भाकियू का कहना है कि रेल रोको आंदोलन के दौरान किसान, रेल मुसाफिरों को पानी, दूध, लस्सी और फल वगैरह देंगे और उन्हें बताएंगे कि किसानों समस्या क्या
किसान संगठनों के नेताओं का कहना है कि रेल रोको आंदोलन के दौरान अगर ट्रेन में कोई ऐसा यात्री है, जिसको किसी जगह पर जल्दी पहुंचना है तो उसे प्राइवेट वाहन में भेजने में मदद की जाएगी। रेल में कोई बीमार होगा तो उसके लिए भी मदद की जाएगी।

(जनचौक के विशेष संवाददाता सुशील मानव की रिपोर्ट।)

Donate to Janchowk!
Independent journalism that speaks truth to power and is free of corporate and political control is possible only when people contribute towards the same. Please consider donating in support of this endeavour to fight misinformation and disinformation.

Donate Now

To make an instant donation, click on the "Donate Now" button above. For information regarding donation via Bank Transfer/Cheque/DD, click here.

This post was last modified on February 18, 2021 2:39 pm

Share