पहला पन्ना

कोरोना पॉजिटिविटी रेट बढ़कर दोगुना, जबकि जांच दर वहीं की वहीं

24 घंटे में कोरोना के नये मामलों की संख्या दो लाख पार जाने के साथ ही पॉजिटिविटी रेट आठ प्रतिशत से बढ़कर 16.7 प्रतिशत हो गया है, जोकि दोगुना से भी ज़्यादा है। पॉजिटिविटी रेट कुल जांच में संक्रमित हुए व्यक्तियों की संख्या का प्रतिशत होता है। छत्तीसगढ़ में सबसे ज्यादा 30.3 फीसदी पॉजिटिविटी रेट दर्ज की गई, वहीं दिल्ली में संक्रमण दर बढ़कर 29.74 फीसदी हो गया है। यानी इन दोनों राज्यों में 100 लोगों की जांच में करीब 30 व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव आ रहे हैं।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक पिछले एक महीने में राष्ट्रीय साप्ताहिक पॉजिटिविटी रेट में 10 प्रतिशत बढ़ोतरी हुई है और ये 3.05 प्रतिशत से बढ़कर 13.54 प्रतिशत हो गई है। छत्तीसगढ़ के अलावा गोवा, राजस्थान, मध्य प्रदेश और लद्दाख में भी 11-17 अप्रैल के दौरान पॉजिटिविटी रेट ज्यादा दर्ज की गई है। इसके साथ ही इन राज्यों में एक महीने पहले (11-17 मार्च) की तुलना में औसतन साप्ताहिक संक्रमण दर काफी तेजी से बढ़ी है। गोवा में पिछले सप्ताह (11-17 अप्रैल) के दौरान पॉजिटिविटी रेट 24.24 फीसदी, महाराष्ट्र में 24.17 प्रतिशत और राजस्थान में 23.33 प्रतिशत रहा है।

12 अप्रैल से एक दिन में नए मामलों की संख्या बहुत तेजी से बढ़ी हैं, जबकि टेस्टिंग रेट उसके मुकाबले ज्यादा नहीं बढ़ा है। जिस अनुपात में केस बढ़ रहे हैं, उसके मुकाबले कई राज्यों में रोजाना जांच की संख्या नहीं बढ़ाई गई है। यहां तक कि जिन राज्यों में ज्यादा मामले आ रहे हैं, वहां RT-PCR टेस्ट की संख्या अब भी कम हैं। पिछले 12 दिनों में टेस्ट की संख्या 11.73 लाख से बढ़कर 15.66 लाख (17 अप्रैल को) हुई है।

भारतीय मेडिकल व अनुसंधान संस्थान के आंकड़े के मुताबिक 18 अप्रैल को कुल 13,56,133 सैंपल टेस्ट किये गये, जबकि पिछले साल से अब तक कुल 26,78,94, 549 सैंपल टेस्ट किये गये हैं। भारत में कुल लैबों की संख्या 2464 है। इसमें आरटी पीसीआर टेस्ट के 1421 लैब (551 सरकार व 870 प्राइवेट) हैं। ट्रू नैट टेस्ट के 906 लैब (636 सरकारी 270 प्राइवेट) है। इसके अलावा CBNAAT टेस्ट के लिए 133 लैब (44 सरकारी 89 प्राइवेट) हैं। इसके अलावा मॉलिकुलर न्युक्लिक टेस्ट के लिए चार लैब (2 सरकारी 2 प्राइवेट) है। इस प्रकार देश में कोविड-19 की टेस्टिंग के लिए कुल 1233 सरकारी और 1231 प्राइवेट लैब हैं।

भारत में एक्टिव केस की संख्या बढ़कर 18,01,316 तक पहुंच गई, जो कुल संक्रमित मामलों का 12.18 फीसदी है। एक्टिव केस में सिर्फ़ महाराष्ट्र की हिस्सेदारी 38 फीसदी है। सोमवार (19 अप्रैल) को स्वास्थ्य मंत्रालय की रिपोर्ट के मुताबिक देश में पिछले 24 घंटे में कोविड-19 के 2,73,810 नए मामले सामने आए हैं और 1,619 लोगों की मौत हुई है। वहीं बीते 24 घंटे में 1,44,178 लोग रिकवर हुए हैं। देश में अब कुल पॉजिटिव मामलों की संख्या 1,50,61,919 है। कोरोना महामारी से अब तक 1,78,769 लोगों की मौत हुई है। एक्टिव केसों की संख्या 19,29,329 है। डिस्चार्ज हुए मामलों की कुल संख्या 1,29,53,821 है। 16 जनवरी से शुरू हुए वैक्सीनेशन अभियान के तहत देश में कुल 12,38,52,566 लोगों को कोविड-19 का वैक्सीन लगाया गया है।

कई राज्यों के अधिकारियों ने स्वीकार किया कि उनके यहां ऑक्सीजन, बिस्तर, वैंटिलेटर और दवाओं की कमी हो रही है। केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने कहा कि महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, गुजरात, दिल्ली और उत्तर प्रदेश में कोविड-19 के बढ़ते मामलों की वजह से ऑक्सीजन की मांग बढ़ रही है। नए मामलों के बढ़ने और लगातार हो रही मौतों के कारण देश में रिकवरी रेट घटकर 86.62 फीसदी हो गया है।

वहीं अब रेलवे देशभर में मेडिकल ऑक्सीजन और ऑक्सीजन सिलिंडरों की सप्लाई के लिए अगले कुछ दिन में ‘ऑक्सीजन एक्सप्रेस’ चलाएगा। रेलवे के एक अधिकारी ने मीडिया से कहा है, ”19 अप्रैल को खाली टैंकर चलेंगे, लिहाजा हम अगले कुछ दिन में ऑक्सीजन एक्सप्रेस अभियान शुरू होने की उम्मीद करते हैं। जहां कहीं मांग होगी, हम वहां ऑक्सीजन भेज सकेंगेय़ ऑक्सीजन एक्सप्रेस ट्रेनों के तीव्र संचालन के लिए ग्रीन कॉरिडोर बनाया जा रहा है।”

This post was last modified on April 20, 2021 12:43 pm

Share
Published by
%%footer%%