राजपथ पर गणतंत्र को क्लेम करने निकला लाखों किसानों और ट्रैक्टरों का रेला

Estimated read time 1 min read

कृषि कानूनों के खिलाफ आज दिल्ली सीमाओं से किसानो की ट्रैक्टर परेड ठीक दस बजे शुरू हो गई। संयुक्त किसान मोर्चा के बैनर तले सिंघु बॉर्डर से किसानों ने ट्रैक्टर परेड शुरू की। ट्रैक्टर रैली कंझावला चौक-औचंदी बॉर्डर-केएमपी-जीटी रोड जंक्शन की ओर बढ़ रही है। वहीं कृषि कानूनों के खिलाफ टिकरी बॉर्डर पर विरोध प्रदर्शन कर रहे किसानों ने पुलिस बैरिकेडिंग तोड़कर ट्रैक्टर परेड शुरू कर दी। इस बीच कई जगह पर किसानों के साथ पुलिस की भिड़ंत की खबरें भी आ रही हैं। किसानों के जत्थे दूसरी रूट पर मुड़ गए। इसकी वजह से पुलिस के साथ किसानों का टकराव हुआ है। पुलिस के आंसू गैस के गोले छोड़ने की भी खबरे हैं।

धंसा बॉर्डर से भी ट्रैक्टर परेड शुरू हो गई है। वहीं गाजियाबाद की तरफ से किसान नेताओं के नेतृत्व में आज सुबह 10 बजे नौ जगहों से ट्रैक्टर परेड शुरू की गई है। ढांसा, चिल्ला, शाहजहांपुर, मसानी बराज, पलवल और सुनेढ़ा बॉर्डर से भी ट्रैक्टर रैली निकाली गई है। वहीं पुलिस से बातचीत के बावजूद दो किसान संगठनों ने रिंग रोड पर ट्रैक्टर मार्च निकाला है। वहीं गाजियाबाद लोनी बॉर्डर से बैरिकेडिंग तोड़कर किसान रैली दिल्ली में प्रवेश कर चुकी है।

किसानों के ट्रैक्टर मार्च को लेकर दिल्ली पुलिस ने सिंघु बॉर्डर जाने वाले मुख्य रास्तों को सुबह से ही बंद कर दिया है, हालांकि परेड आउटर रिंग रोड पर नहीं जाएगी, लेकिन एहतियातन आउटर रिंग रोड पर बड़ी संख्या में ट्रक खड़े कर दिए गए हैं। साथ ही सिंघु बॉर्डर के आसपास भारी संख्या में पुलिस और रैपिड एक्शन फोर्स के जवानों की तैनाती की गई है। किसानों की ट्रैक्टर परेड के दौरान कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए कई सीमाओं पर पहले से ही सुरक्षा कर्मियों को तैनात कर दिया गया है। दिल्ली पुलिस आयुक्त एसएन श्रीवास्तव ने कहा, “यह हमारे लिए एक चुनौतीपूर्ण कार्य होगा। हालांकि, गणतंत्र दिवस परेड समाप्त होने के बाद कड़ी सुरक्षा के बीच ट्रैक्टर परेड निकाली जा रही है।”

ट्रैक्टर परेड के मद्देनजर राजधानी की कई सीमाओं पर हजारों सशस्त्र सुरक्षा कर्मियों को तैनात किया गया है। बहुस्तरीय सुरक्षा व्यवस्था का बंदोबस्त किया गया है। किसानों की ट्रैक्टर परेड के मद्देनजर दिल्ली में सुरक्षा बेहद सख्त है। दिल्ली पुलिस ने बार्डर पर बैरिकेडिंग बढ़ाई है। एहतियातन कंटेनर से कई रास्ते ब्लॉक कर दिए गए हैं।

बता दें कि कृषि कानूनों को लेकर दिल्ली की सीमाओं पर आंदोलनरत किसान आज गणतंत्र दिवस के मौके पर नौ रूट से ट्रैक्टर परेड निकाल रहे हैं, जबकि दिल्ली पुलिस ने तीन रूट फाइनल किए हैं, उनमें सिंघु रूट (63 किमी), टिकरी रूट (62.5 किमी) और गाजीपुर रूट (68 किमी) है। किसान संगठनों ने कहा है कि झांसा और चिल्ला बॉर्डर से भी परेड निकली है। इसके अलावा शाहजहांपुर बॉर्डर, मसानी बराज, पलवल और नूह के सुनेढ़ा बॉर्डर से भी किसान ट्रैक्टर परेड आगे बढ़ी है।

बता दें कि किसानों को सिर्फ तीन रूट पर पांच हजार ट्रैक्टर लेने जाने की इजाजत प्रशासन से मिली है, जबकि किसान नेता नौ रूट पर परेड निकाल रहे हैं। कल शाम और आज सुबह संयुक्त किसान मोर्चा द्वारा किसानों को परेड के लिए निर्देश दिए गए हैं। परेड में ट्रैक्टर और दूसरी गाड़ी चलेंगी, लेकिन ट्रॉली नहीं जाएगी। जिन ट्रालियों में विशेष झांकी बनी होगी उन्हें छूट दी जा सकती है। अपने साथ 24 घंटे का राशन पानी पैक करके चलें। हर ट्रैक्टर या गाड़ी पर किसान संगठन के झंडे के साथ-साथ राष्ट्रीय झंडा भी लगाया जाए। किसी भी पार्टी का झंडा नहीं लगेगा। अपने साथ किसी भी तरह का हथियार न रखें, लाठी या जेली भी न रखें। किसी भी भड़काऊ या नेगेटिव नारे वाले बैनर न लगाएं।

You May Also Like

More From Author

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments